--Advertisement--

आंगनबाड़ी वर्करों का सरकार के खिलाफ प्रदर्शन

भास्कर संवाददाता | रोपड़/ आनंदपुर साहिब आंगनबाड़ी मुलाजिम यूनियन की राज्य कमेटी के आह्वान पर ब्लाक रोपड़ और ब्लाक...

Danik Bhaskar | May 02, 2018, 02:00 AM IST
भास्कर संवाददाता | रोपड़/ आनंदपुर साहिब

आंगनबाड़ी मुलाजिम यूनियन की राज्य कमेटी के आह्वान पर ब्लाक रोपड़ और ब्लाक आनंदपुर साहिब के वर्करों ने अपनी मांगों को लेकर प्रदेश अध्यक्ष हरगोबिंद कौर की अगुवाई में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारी को मुख्यमंत्री के नाम मांगपत्र भी दिया, जिसमें आंगनबाड़ी वर्करों व हेल्परों की मांगों को हल करने की मांग की गई। ब्लाक अध्यक्ष रीमा रानी ने कहा कि यूनियन की प्रदेश अध्यक्ष हरगोबिंद कौर की अगुवाई में बठिंडा में वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल के दफ्तर के आगे लगाए दिन रात के धरने को आज 93वें दिन हो गए हैं लेकिन सरकार ने उनकी मांगों को पूरा करने के लिए कोई कार्यवाही नहीं की। इस कारण आंगनबाड़ी वर्करों व हेल्परों में सरकार के खिलाफ रोष है।

उधर, आंनदपुर साहिब में भी मुलाजिमों ने अपनी मांगे को लेकर प्रदर्शन किया और पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। ब्लाक अध्यक्ष सुरेश कुमारी ने कहा कि यूनियन के राज्य अध्यक्ष हरगोबिंद कौर की अगुवाई में यूनियन संघर्ष कर रही है। उन्होंने कहा कि 1975 से काम कर रहे वर्करों व हेल्परों की किसी सरकार ने बात नहीं सुनी और न ही उनको सरकारी मुलाजिम का दर्जा दिया। उन्होंने मांग की कि केंद्र सरकार वर्कर व हेल्परों को सरकारी मुलाजिम का दर्जा दे और राज्य की 54 हजार हेल्परों को हरियाणा के पैटर्न के मान भत्ता दिया जाए। प्री नर्सरी कक्षा में दाखिल बच्चे वापस आंगनबाड़ी सेंटरों को दिए जाए और एनजीओ के तहत चलते ब्लाकों को वापस विभाग में लाया जाए। आंगनबाड़ी वर्करों ने तहसीलदार सुरिंदरपाल सिंह को मांगपत्र भी दिया।

मांगों को लेकर नारेबाजी करतीं रोपड़ की आंगनबाड़ी वर्कर और हेल्पर। (दाएं) आनंदपुर साहिब में तहसीलदार सुरिंदरपाल सिंह को मांगपत्र देतीं आंगनबाड़ी वर्कर।

ये है आंगनबाड़ी मुलाजिमों की मांगें

रोपड़ की आंगनबाड़ी मुलाजिम हरपाल कौर, मलकीत कौर, कुलविंदर कौर, सुरिंदर कौर, राज रानी, जीवन लत्ता, परमजीत कोटला, परमिंदर कौर, अमरजीत कौर और कुलदीप कौर ने सरकार से मांग की कि नर्सरी कक्षा में दाखिल किए 3 से 6 वर्ष तक के बच्चे आंगनबाड़ी सेंटरों को दिए जाए, एनजीओ के तहत चलते ब्लाक वापस विभाग में लाए जाए। केंद्र सरकार आंगनबाड़ी वर्करों व हेल्परों को सरकारी मुलाजिम का दर्जा दे, वर्करों व हेल्परों को हरियाणा पैट्रन पर मान भत्ता दिया जाए, वर्करों व हेल्परों को पेंशन ग्रेच्युटी व अन्य सभी लाभ दिए जाए।