--Advertisement--

दिव्यांग अमित को वर्ल्ड पैरा जूनियर चैंपियनशिप 200 मी. में गोल्ड

भास्कर संवाददाता | आनंदपुर साहिब बचपन से ही दाईं बाजू पोलियोग्रस्त होने के बावजूद भी दशमेश मार्शल अकादमी...

Dainik Bhaskar

Jun 11, 2018, 02:00 AM IST
दिव्यांग अमित को वर्ल्ड पैरा जूनियर चैंपियनशिप 200 मी. में गोल्ड
भास्कर संवाददाता | आनंदपुर साहिब

बचपन से ही दाईं बाजू पोलियोग्रस्त होने के बावजूद भी दशमेश मार्शल अकादमी आनंदपुर साहिब के दौड़ाक अमित कुमार ने घर की आर्थिक हालत ठीक न होने के बावजूद हौसला नहीं छोड़ा तथा हाल ही में स्विट्जरलैंड में हुई वर्ल्ड पैरा जूनियर चैंपियनशिप की 200मी. दौड़ में गोल्ड जीता। अब अगस्त महीने में इंडोनेशिया की राजधानी जर्काता में होने वाली एशिया खेलों में 400 मी. दौड़ के लिए तैयारी कर रहा है तथा उम्मीद है कि एक बार फिर गोल्ड मेडल जीतकर लाएगा। वहीं पंजाब सरकार ने इस दौड़ाक की बड़ी प्राप्ति होने के बावजूद कोई हौंसला अफजाई नहीं की है।

अमित के दशमेश मार्शल अकादमी के कोच जगवीर सिंह जौहल ने भास्कर से बातचीत करते बताया कि अमित कुमार का जन्म 20 मार्च 1999 को मंडी गोबिंदगढ़ में हुआ था। उसके पिता कृष्ण देव और माता सुभावती देवी है। वह वहां पिता कृष्ण देव लोहे की फैक्टरी में काम करके रोजी-रोटी चलाते हैं। अमित कुमार की दाईं बाजू बचपन से ही पोलियो का शिकार थी। घर की गरीबी के साथ लड़ते-लड़ते अमित के पिता ने उसका काफी इलाज करवाया लेकिन वह ठीक नहीं हो सका। अमित बचपन से ही खेलों का शौकीन था तथा वह अपंग होते हुए भी खेल के मैदान में खेलना चाहता था। इसकी मेहनत रंग लाई है। स्कूल में पढ़ने गया तो अपने शौक के लिए उसने खेलें भी जारी रखीं तथा दौड़ मुकाबलों में भी हिस्सा लेने लगा।

सीनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप की 400 मी. दौड़ में जीत चुका सिल्वर

जिला रोपड़ के खेल अफसर सुरजीत सिंह संधू ने समय-समय पर अमित का हौसला बढ़ाते हैं। पंजाब स्पोर्ट्स के ट्रेनिंग डायरेक्टर सुखवीर सिंह गरेवाल के य|ों के तहत मार्शल अकादमी आनंदपुर साहिब में अपने कोच जगवीर सिंह जोहल के नेतृत्व में एथलेटिक्स मीट में एक दौड़ाक के दांव-पेच सीख रहा है। अमित स्विट्जरलैंड में हुई 400 मी. दौड़ में और 2017 में बीजिंग के परिक्स शहर में हुई सीनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप में 400 मी. दौड़ में सिल्वर मेडल जीत चुका है। यही नहीं 2017 में हुई सीनियर पैरा-एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भी उसने 100 मी. दौड़ में भी गोल्ड जीता।

अमित कुमार ने बताया कि वह अपना जीवन दौड़ को समर्पित कर देगा। -भास्कर

टोकियो में होने वाली पैरा-ओलंपिक में भी दौड़ने जाएगा

कोच जगवीर सिंह जोहल ने बताया कि अमित की इस जीत के कारण दशमेश मार्शल अकादमी का नाम बढ़ा हैं। उन्हें उस पर गर्व है। वह बेहद बहुत ही गरीब परिवार से संबंधित है लेकिन इसके बावजूद पंजाब स्पोर्ट्स के डायरेक्टर सुखवीर सिंह गरेवाल के य|ों से उसे 2020 में टोकियो में होने वाली पैरा-ओलंपिक में भी लेकर जाएंगे। उन्हें उम्मीद है कि वह वहां भी गोल्ड मेडल जरूर जीतेगा।

X
दिव्यांग अमित को वर्ल्ड पैरा जूनियर चैंपियनशिप 200 मी. में गोल्ड
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..