Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» भाई नंद लाल स्कूल के समर कैंप में बच्चों को गुरमति विचारधारा से जोड़ा

भाई नंद लाल स्कूल के समर कैंप में बच्चों को गुरमति विचारधारा से जोड़ा

भाई नंद लाल स्कूल में लगे समर कैंप में उपस्थित बच्चे और स्टाफ सदस्य। भास्कर संवाददाता| आनंदपुर साहिब भाई नंद...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 11, 2018, 02:00 AM IST

भाई नंद लाल स्कूल के समर कैंप में बच्चों को गुरमति विचारधारा से जोड़ा
भाई नंद लाल स्कूल में लगे समर कैंप में उपस्थित बच्चे और स्टाफ सदस्य।

भास्कर संवाददाता| आनंदपुर साहिब

भाई नंद लाल पब्लिक स्कूल आनंदपुर साहिब में श्री गुरु नानक देव जी के 550वें वर्षीय प्रकाश पर्व को समर्पित शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी अमृतसर द्वारा धर्म प्रचार कमेटी और डायरेक्टर ऑफ एजुकेशन बहादरगढ़ पटियाला की सरप्रस्ती में लगाए गुरमति चेतना सिखलाई कैंप के तीसरे दिन विभिन्न गतिविधियां करवाई गई।

इसमें विद्यार्थियों को सुबह नितनेम करने के बाद नौजवान प्रचारक भाई जसप्रीत सिंह मुकतसर साहिब, एसजीपीसी मेंबर प्रिंसिपल सुरिंदर सिंह ने विद्यार्थियों को गुरमति सिद्धांतों के साथ जोड़ा। इस मौके पर विशेष मेहमान के रूप में उपस्थित एसजीपीसी सचिव परमजीत सिंह सरोआ ने विद्यार्थियों को पर्यावरण, गुरमति के चिन्ह, एतिहासिक दृश्य, दस्तार और सिखी के विषयों संबंधी ड्राइंग प्रतियोगिता करवाई।

इसमें विजेता विद्यार्थियों को कैंप के विशेष समागम वाले दिन एसजीपीसी अध्यक्ष भाई गोबिंद सिंह लौंगोवाल इनाम देंगे। दोपहर लंगर के बाद विद्यार्थियों को आनंदपुर साहिब में 5 किलों के दर्शन करवाकर इतिहास संबंधी भी जानकारी दी।

इस मौके पर सभी स्टाफ मेंबर और विद्यार्थी उपस्थित थे। स्टूडेंट्स को सिखों के महान इतिहास की जानकारी दी गई। उन्होेने कहा कि सिख इतिहास गौरवमयी है। सिखों ने लोगों की भलाई के लिए अपनी जानें कुर्बान कर दी। अपने परिवारों का भी बलिदान दिया ताकि जरूरतमंदों और िनसहाय लोगों की मदद की जा सके और लोगों पर जुल्म करने वालों के खिलाफ संघर्ष किया जाए। बच्चों ने आनंदपुर साहिब के पांच किलों के दर्शन करके इतिहास की जानकारी ली और पुरातन सभ्यता और संस्कृति को जाना-पहचाना।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×