Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» दोआबा जोन के 18वें साप्ताहिक गुरमति समागम में 100 प्राणियों ने छका अमृत

दोआबा जोन के 18वें साप्ताहिक गुरमति समागम में 100 प्राणियों ने छका अमृत

भास्कर संवाददाता|आनंदपुर साहिब शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष भाई गोबिंद सिंह लौंगोवाल के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 11, 2018, 02:00 AM IST

भास्कर संवाददाता|आनंदपुर साहिब

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष भाई गोबिंद सिंह लौंगोवाल के निर्देशों अनुसार चल रही गुरमति प्रचार लहर जो पंजाब, हरियाणा, हिमाचल, जम्मू कशमीर व राजस्थान में घर-घर पहुंचकर धर्म का प्रचार और प्रसार कर रही है, के दोआबा जोन का 18वां साप्ताहिक गुरमति समागम तख्त श्री केसगढ़ साहिब में करवाया गया।

इस मौके संगत को संबोधन करते हुए एसजीपीसी मैंबर प्रिंसिपल सुरिंदर सिंह ने कहा कि गुरबाणी सिद्धांतों व इतिहास के बारे में जानकारी के लिए ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन करना जरूरी है व लोगों को साप्ताहिक समागमों में शामिल होकर इसका लाभ लेना चाहिए। समागम की आरंभता समय तख्त श्री केसगढ़ साहिब का हजूरी रागी जत्था भाई निर्मल सिंह ने गुरबाणी कीर्तन द्वारा संगतों को निहाल किया। रागी-ढाडी संगती अकादमी के बच्चों ने कीर्तन कर अपनी हाजरी लगवाई। जिनका विशेष रूप से सम्मान भी किया गया।

भाई सतनाम सिंह दर्दी के पंथ प्रसिद्ध कविशरी जत्थे द्वारा गुर इतिहास संबंधी संगतों को जानकारी दी। दोआबा जोन के सब ऑफिस के अतिरिक्त सचिव डॉ. परमजीत सिंह सरोआ ने संगतों का धन्यवाद करते हुए बताया कि जोन में प्रचारकों, ढाडियों व कविशरी जत्थों को संगतों से बहुत प्यार मिल रहा है। उन्होंने बताया कि आज हुए इस समागम मौके 100 प्राणियों ने अमृतपान किया। इस मौके मैनेजर जसवीर सिंह, सूचना अफसर हरदेव सिंह, मनजिंदर सिंह बराड़, नरेंद्र सिंह मथरेवाल, चरणकमल सिंह नाभा, सुखविंदर सिंह कुरुक्षेत्र, दलजीत सिंह आदि उपस्थित थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: दोआबा जोन के 18वें साप्ताहिक गुरमति समागम में 100 प्राणियों ने छका अमृत
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×