चंडीगढ़ समाचार

--Advertisement--

गुरबाणी सिख जीवन का आधार : ज्ञानी रघुबीर सिंह

भास्कर संवाददाता | आनंदपुर साहिब श्री गुरु नानक देव जी के 550 वर्षीय प्रकाश पर्व को समर्पित 13 अप्रैल से दोआबा जोन...

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2018, 02:00 AM IST
गुरबाणी सिख जीवन का आधार : ज्ञानी रघुबीर सिंह
भास्कर संवाददाता | आनंदपुर साहिब

श्री गुरु नानक देव जी के 550 वर्षीय प्रकाश पर्व को समर्पित 13 अप्रैल से दोआबा जोन के गुरबानी पाठ बोध समागम की समाप्ति तख्त श्री केसगढ़ साहिब में हुई। इस मौके संबोधित करते तख्त श्री केसगढ़ साहिब के जत्थेदार सिंह साहिब ज्ञानी रघुबीर सिंह ने कहा कि गुरबाणी सिख के जीवन का आधार है। गुरबाणी का सही शब्दों में ज्ञान प्राप्त करने के लिए ऐसे समागमों की जरूरत है।

तख्त श्री दमदमा साहिब के जत्थेदार सिंह साहिब ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने कहा कि गुरबानी पाठ बोध समागम शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का सराहनीय प्रयास है। इस दौरान एसजीपीसी प्रधान भाई गोबिंद सिंह लौंगोवाल ने कहा कि ग्रंथी तथा पाठी सिंहों के उत्साह को देखते हुए गुरबाणी पाठ बोध समागमों की कड़ी लगातार जारी रहेगी। उन्होंने ऐलान किया कि दोआबा जोन का दूसरा पाठ बोध समागम लुधियाना में गुरुद्वारा आलमगीर साहिब में होगा और पंजाब के बाहर के राज्यों में भी समागम करवाए जाएंगे। उन्होंने ग्रंथी सिंहों से अपील की कि वे अच्छे प्रचारकों से विचार कर गुरु संदेश को घर-घर पहुंचाएं तथा एसजीपीसी को सहयोग दें। इस मौके धर्म प्रचार कमेटी के मेंबर प्रितपाल सिंह पाली, जूनियर उपाध्यक्ष हरपाल सिंह जल्ला, प्रिंसिपल सुरिंदर सिंह तथा भाई अमरजीत सिंह चावला ने भी संबोधित किया। इस दौरान भाई सिमरप्रीत सिंह हजूरी रागी जत्था तख्त श्री केसगढ़ साहिब ने कीर्तन किया। अतिरिक्त सचिव बलविंंदर सिंह जोड़ा सिंह की तरफ से संकल्प प्रचार लहर के चल रहे कामों बारे विसथारपूरवक जानकारी सांझी की और ग्रंथी सिंहों को विनती की कि वह गुरुद्वारा साहिबान में बच्चों की संकल्प क्लासों लगाने के य| करें। स्टेज की सेवा भाई सरबजीत सिंह ढोटियें ने निभाई। इस मौके पर हेड ग्रंथी ज्ञानी फूला सिंह, परमजीत सिंह लखेवाल, रणजीत कौर, चरनजीत सिंह कालेवाल, डॉ. दलजीत सिंह भिंडर (सभी एसजीपीसी मेंबर), अतिरिक्त सचिव डॉ. परमजीत सिंह सरोआ, मैनेजर जसबीर सिंह, सूचना अफसर हरदेव सिंह, प्रिंसिपल जसवीर सिंह खालसा कालेज, गाईड भुपिंदर सिंह, किशोर सिंह बंगड़, इंद्रपाल सिंह रोपड़, रविंदर सिंह खेड़ा, रणबीर सिंह कलोता, लवप्रीत सिंह, गुरदीप सिंह, परमजीत सिंह, सुखदेव सिंह, प्रचारक रशमीत सिंह, बाबा रविंदर सिंह आदि उपस्थित थे।

समागम की समाप्ति मौके सिंह साहिब ज्ञानी रघुबीर सिंह (सेंटर में) को सम्मानित करते एसजीपीसी प्रधान गोबिंद सिंह लौंगोवाल (दाएं से पांचवें) और अन्य।

178 ग्रंथी और पाठी सिंहों को सम्मान चिन्ह

समागम में 178 ग्रंथी और पाठी सिंहों को सम्मान चिन्ह, सर्टिफिकेट तथा 1500-1500 रुपए देकर सम्मानित किया गया और कैंप में कुल 318 शिक्षार्थियों ने भाग लिया। इस दौरान गुरबाणी पाठ बोध समागम की शिक्षा ले रहे पूर्व मुख्य इंजीनियर दविंदर सिंह ने अपना तजुर्बा सांझा करते हुए कहा कि उन्हें यह कैंप लगाकर सही ज्ञान की प्राप्ति हुई है।

X
गुरबाणी सिख जीवन का आधार : ज्ञानी रघुबीर सिंह
Click to listen..