--Advertisement--

एक्सीडेंट से खुले कार के एयरबैग, पापा की गोद में बैठी बच्ची की मौत-बाकी सबको आई सिर्फ खरोंच

लोगों ने जब सभी को बाहर निकाला तो अबिरा बेहोश मिली, जबकि उसके पापा, मां और बड़ी बहन को थोड़ी चोट लगी थी।

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2018, 01:54 PM IST
Baby girl in father lap death in accident

चंड़ीगढ़। फंक्शन से वापस लौट रहे एडवोकेट की कार और एक कैब के बीच टक्कर हो गई। एक्सीडेंट होते ही कार के एयरबैग खुल गए, लेकिन फिर भी एडवोकेट की सवा 4 साल की बेटी अबिरा की मौत हो गई। बच्ची पापा की गोद में बैठी थी। एयरबैग खुला तो वह पापा और एयरबैग के बीच में दब गई। लोगों ने जब सभी को बाहर निकाला तो अबिरा बेहोश मिली, जबकि उसके पापा, मां और बड़ी बहन को थोड़ी चोट लगी थी। बच्ची को तत्काल हॉस्पिटल ले गए, जहां इलाज के दौरान अबिरा की मौत हो गई। बच्ची की मां चला रही थी कार...

- सेक्टर-49 थाना पुलिस ने दूसरी कार के ड्राइवर के खिलाफ केस दर्ज किया है। यह कार एक प्राइवेट कंपनी में लगाई गई है, जिसे हरदेव चला रहा था। पुलिस ने मृतक बच्ची के शव का पोस्टमार्टम करवा उसे घरवालों को सौंप दिया है।

- घरवाले शव को अमृतसर, अपने पैतृक गांव में ले गए। पुलिस को अभी पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं मिली है, जिस वजह से अभी क्लियर नहीं है कि आखिर बच्ची की मौत कैसे हुई।

- एडवोकेट गौरव परिवार के साथ सेक्टर-51 न्यू लाइट सोसायटी में रहते हैं। गौरव कार से पत्नी निधि, बेटी अबिरा और आयरा के साथ जीरकपुर में एक फंक्शन अटैंड करने गए थे।

- सोमवार रात एक बजे वे घर लौट रहे थे। कार निधि चला रही थी, अबिरा साथ वाली सीट पर पापा की गोद में बैठी थी। आयरा पीछे की सीट पर थी।

- इस बीच, हरदेव डिवाइडिंग रोड से मोहाली की ओर जा रहा था। जब कारें सेक्टर-46/47-48-49 लाइट प्वाइंट पर पहुंचीं तो दोनों में टक्कर हो गई। टक्कर इतनी जबरदस्त था कि दोनों कारों का काफी नुकसान हो गया।


पापा और एयरबैग के बीच में फंसी बच्ची
- एयरबैग खुला लेकिन बच्ची नहीं बची, पूरा परिवार सेफ...अबिरा के शरीर पर देखने से कोई गंभीर चोट नहीं थी। बच्ची के शरीर में कोई अंदरूनी चोट थी या नहीं इसका खुलासा पोस्टमार्टम के बाद होगा। अंदेशा जताया जा रहा है कि बच्ची की मौत दम घुटने से हुई होगी।

X
Baby girl in father lap death in accident
Bhaskar Whatsapp
Click to listen..