--Advertisement--

जिसके खिलाफ पिता ने दर्ज कराया रेप का केस, लड़की ने उसी से की शादी, बच्चा भी हो गया लेकिन 5 साल बाद कोर्ट ने आरोपी को सुनाई 7 साल की सजा

धर्मकोट थाने का मामला: 2013 में प्लस टू की साढ़े 17 साल की छात्रा से सहपाठी ने किया था रेप।

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 08:01 PM IST

मोगा (पंजाब)। बुधवार को मोगा में अनोखा मामला सामने आया। इसमें पहले नाबालिग लड़की से नाबालिग लड़के ने रेप किया। लड़की के पिता ने केस दर्ज कराया तो लड़का गिरफ्तार हो गया। जमानत पर आया तो उसी से लड़के काे प्यार हो गया। कुछ दिन प्रेम प्रसंग चला। फिर दोनों ने 4 जुलाई 2017 कोर्ट में शादी कर दी। 5 साल बाद जज ने सुनाई सजा...

- शादी के बाद दोनाें पति-पत्नी की तरह रहते हैं। दोनों का एक बेटा भी है। लेकिन लड़की के पिता द्वारा 2013 में दर्ज कराया गया रेप का केस कोर्ट में चलता रहा।

- कई बार लड़की ने अपने पति के पक्ष में कोर्ट में दलील भी दी लेकिन वह काम नहीं आई।

- बुधवार को 5 साल पुराने मामले में एडिशनल सेशन जज ने नाबालिग को शादी करवाने का झांसा देकर भगाने के आरोप में आरोपी युवक को दोषी करार देते हुए 7 साल कैद व 5 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुना दी।

शादी का झांसा देकर रेप करने का केस दर्ज कराया था पिता ने...
पुलिस ने 2013 में पलविंदर और उसकी मां जसविंदर कौर पर 17 साल की लड़की को भगाने का केस दर्ज किया था। पुलिस ने दोनों को ढूंढ लिया। फिर मेडिकल करवाया और कोर्ट में 164 के बयान दर्ज करवाकर युवक पर रेप की धारा भी जोड़ दी। पलविंदर को कोर्ट ने जेल भेज दिया।

कोर्ट ने पीड़ित लड़की की दलील भी नहीं मानी...
24 अगस्त 2015 को रेप के आरोपी पलविंदर सिंह को कोर्ट से जमानत मिलने के बाद उन दोनों में फिर से प्यार पनपने लगा। इसके बाद दोनों ने 4 जुलाई 2017 को कोर्ट मैरिज कर ली। लेकिन कोर्ट में केस चलता रहा, क्योंकि केस लड़की के पिता द्वारा दायर किया गया था। जिस समय केस दर्ज हुआ था, उस समय लड़की नाबालिग थी। वहीं, लड़की ने कोर्ट में पति का पक्ष लेने की काफी कोशिश की, लेकिन कोर्ट उसकी दलीलों से सहमत नहीं हुई।