Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» अभी तो मैं जवान हूं...

अभी तो मैं जवान हूं...

सुरों की कोकिला मलिका पुखराज ने क्या खूब गया है कि अभी तो मैं जवान हूं। ये एक विश्वव्यापी समस्या है। हर बंदा अपने आप...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 02, 2018, 02:00 AM IST

अभी तो मैं जवान हूं...
सुरों की कोकिला मलिका पुखराज ने क्या खूब गया है कि अभी तो मैं जवान हूं। ये एक विश्वव्यापी समस्या है। हर बंदा अपने आप को मरते दम तक जवान ही समझता है। आंटी या अंकल जी सुनते ही रौंगटे खड़े हो जाते हैं। हैरानी होती है कि बच्चों ने कैसे जुर्रत की, क्योंकि मन ही मन में आप 16 साल से कभी आगे बड़े ही नहीं होते।

2012 में फौज के पूर्व जनरल वीके सिंह सुप्रीम कोर्ट के आगे अभी हैं जवान हूं गाना गाते हुए दिखे। दसवीं कक्षा के सर्टिफिकेट में जन्म की तिथि और यूपीएससी के फॉर्म की तिथियां अलग होने से उनकी सर्विस में रिटायरमेंट का बखेड़ा खड़ा हो गया। पहले जमाने में बापूजी अंदाजे से ही बच्चों की जन्म तिथि भर देते थे। मेरा काका तो तब हुआ था जब बड़ी तेज आंधी आई थी और सारी फसलें तबाह हो गई थीं। बढ़ते हुए बच्चे कितने ही साल तक अंदाजे से ही अपना जन्मदिन मनाते रहते थे। उन्हें ये भी समझ नहीं आता था कि उनको फसल तबाह होने पे दुखी होना चाहिए या अपने जन्मदिन पर खुश। शुक्र है कि जनरल वीके सिंह औरत नहीं हैं, क्योंकि कई औरतों की उम्र हर साल कम ही होती रहती है। शायद इसी कारण औरतों को मिलिट्री में भरती कराने पर इतनी देर तक विवाद चलता रहा। अंदाजा लगाइए कि कोई औरत अगर आर्मी चीफ बन जाए और रिटायर न हो। 60 साल की उम्र में भी वो कह सकती है कि अभी तो मैं 39 की भी नहीं हुई।

शुक्र है कि पॉलिटिक्स में कोई उम्र नहीं होती। प्रधानमंत्री किसी भी उम्र का हो सकता है, बल्कि बिना दांतों और घुटनों के मंत्री ज्यादा सजते हैं। कार्टूनिस्ट और व्यंग्यकारों को काफी मटीरियल मिल जाता है। और अगर नेताओं की भी कोई रिटायरमेंट डेट फिक्स कर दी जाए तो फिर देश के मसलों को छोड़ उनकी डेट ऑफ बर्थ के मसले ही खड़े होते रहेंगे।बाकी बातें छोड़ें- असली बंदा तो वही है, जो आखिरी दम तक जवान रहे। दादा जी ने पोते को कहा- बेटा मेरा नकली दांत पकड़ना। पोता बोला, दादा जी अभी रोटी तैयार नहीं हुई। दादा जी बोले- बेटा रोटी किसने खानी है, मैं तो सामने वाली खिड़की में बैठी बुढ़िया को स्माइल देना चाहता था।

(उपरोक्त, विचार कॉलमनिस्ट के निजी हैं, और व्यंग्य शैली में प्रस्तुत किए गए हैं)

City women

सविता भट्‌टी

ब्रांड अम्बेस्डर, स्वच्छ भारत चंडीगढ़

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×