--Advertisement--

फिल्म फेस्टिवल होंगे, तभी तो शहर में बढ़ेंगी फिल्मों की शूटिंग

चंडीगढ़ म्यूजिक एंड फिल्म फेस्टिवल 2018 के आखिरी दिन एलांते मॉल में सिटी बेस्ड एक्टर प्रगति त्रिखा ने शिरकत की और...

Danik Bhaskar | May 02, 2018, 02:00 AM IST
चंडीगढ़ म्यूजिक एंड फिल्म फेस्टिवल 2018 के आखिरी दिन एलांते मॉल में सिटी बेस्ड एक्टर प्रगति त्रिखा ने शिरकत की और शेयर किए अपने विचार...

सिटी रिपोर्टर | चंडीगढ़

पिछले कई साल में चंडीगढ़ में कई हिंदी और पंजाबी फिल्मों की शूटिंग हो चुकी है। अब एक कदम और आगे बढ़ गया है। अब शहर में फिल्म फेस्टिवल्स होने लगे हैं, जो क्षेत्र के फिल्ममेकर्स को प्रमोट कर रहे हैं। ऐसा ही तीन दिन का फेस्टिवल घडुआं स्थित चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी और एलांते मॉल में हुअा। इस फेस्टिवल का नाम था चंडीगढ़ म्यूजिक एंड फिल्म फेस्टिवल 2018। इसमें कई भाषाओं में शॉर्ट फिल्मों और डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग की गई। इतना ही नहीं बॉलीवुड और पॉलीवुड के कई बड़े नाम भी इसमें शिरकत करने पहुंचे। यह कहना है सिटी बेस्ड एक्टर प्रगति त्रिखा का। एलांते मॉल में इस फेस्टिवल के समापन पर वह पहुंचीं। प्रगति के मुताबिक अगर फिल्मों से जुड़े इस तरह के इवेंट शहर में लगातार होते रहेंगे तो आने वाले समय में यहां फिल्मों की शूटिंग को और बढ़ावा मिलेगाा। प्रगति नेशनल अवॉर्ड विनर हैं।

आर्टिस्ट्स और टेक्निकल लोगों को मिलेग काम

प्रगति ने कहा कि साल 2008 में पीजीआई के ऑडिटोरियम में एक फिल्म फेस्टिवल आयोजित हुआ था जिसे प्रख्यात फिल्म निर्देशक श्याम बेनेगल, नफीसा अली और कमल तिवारी ने अटेंड किया था। उसके बाद 20 बॉलीवुड फिल्मों की शूटिंग शहर और इसके अासपास की लोकेशंस पर हुई। इसी तरह इस फिल्म फेस्टिवल में रजा मुराद, मुकुल देव, माही गिल, मुकेश तिवारी, सतिंदर सत्ती और प्रीति सपरू शामिल थे। पहले दो दिन सुभाष घई और सतीश कौशिक ने भी थोड़े समय के लिए ही सही फेस्टिवल में शिरकत की। इसलिए उम्मीद लगाई जा रही है कि आने वाले समय में कई हिंदी व पंजाबी फिल्मों की शूटिंग यहां होगी। इससे चंडीगढ़ के आर्टिस्ट्स के अलावा टेक्निकल लोगों को भी काम मिलेगा। सभी फिल्म पर्सनैलिटीज ने शहर की हरियाली, सफाई और खूबसूरती की तारीफ की और कहा कि इन खूबसूरत स्पॉट्स को फिल्मों में इस्तेमाल किया जा सकता है।