Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» बंदनवार में 12 बाल कवियों ने सुनाईं अपनी कविताएं

बंदनवार में 12 बाल कवियों ने सुनाईं अपनी कविताएं

मौका था बाल कवि दरबार का, जो सेक्टर-16 के पंजाब कला भवन में हुआ। इसे पंजाब साहित्य अकादमी और पंजाब कला परिषद के सहयोग...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 02, 2018, 02:00 AM IST

  • बंदनवार में 12 बाल कवियों ने सुनाईं अपनी कविताएं
    +3और स्लाइड देखें
    मौका था बाल कवि दरबार का, जो सेक्टर-16 के पंजाब कला भवन में हुआ। इसे पंजाब साहित्य अकादमी और पंजाब कला परिषद के सहयोग से हर महीने में के आखिर में होने वाले साहित्यक कार्यक्रम बंदनवार के तहत आयोजित करवाया गया। दरबार में मानसा, बठिंडा, पटियाला, कुलरिया, होशियारपुर, मोगा से आए 12 बाल कवि शामिल हुए, जिन्होंने अपनी लिखी कविताएं सुनाईं। किसी ने कविता के जरिए मानवता का संदेश दिया, तो किसी ने आप बीती सुनाई और पर्यावरण, नशे, इच्छाओं व बंटवारे के बारे में बताया। सबसे पहले बठिंडा की रूही सिंह आई। उन्होंने ‘ सियासत है’ कविता सुनाई। फिर ‘एक होर पंजाब’ कविता में बंटवारे का दर्द बयां किया गया। इसके बाद होशियारपुर की जसमीन कौर की कविता नशे और लड़कियों पर आधारित रही। मंच का संचालन कुलदीप सिंह ने किया। मुख्य मेहमान जसबीर भुल्लर रहे। इसके अलावा अकादमी की प्रधान डॉ. सरबजीत कौर सोहल भी यहां मौजूद रहीं।

    सेक्टर-16 के पंजाब कला भवन में बाल कवि दरबार आयोजित किया गया। इसमें पंजाब के अलग-अलग जगह से आए बाल कवियों ने कविताएं सुनाई।

    इन्होंने भी सुनाई कविताएं

    झुनीर के करण प्रताप की कविताएं जिंदगी से जुड़ी रही। बठिंडा की पुनीत ने दो कविताएं सुनाई। एक कविता आपबीती पर और दूसरी पर्यावरण पर आधारित रही। कुलरिया की नेहा रानी ने अहंकारी ‘ कविता सुनाई। इसके जरिए यह बताया गया कि किसी को भी अपने ज्ञान का अहंकार नहीं करना चाहिए। इनके अलावा कुलविंदर धालीवाल, मनप्रीत, नवजोत, अमनप्रीत कौर, नवनीत रानी, एस सादगी, जगदीप जवाहर ने भी कविताएं सुनाई।

  • बंदनवार में 12 बाल कवियों ने सुनाईं अपनी कविताएं
    +3और स्लाइड देखें
  • बंदनवार में 12 बाल कवियों ने सुनाईं अपनी कविताएं
    +3और स्लाइड देखें
  • बंदनवार में 12 बाल कवियों ने सुनाईं अपनी कविताएं
    +3और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×