--Advertisement--

इस क्लीनिक में बिगड़ते हेरिटेज का ट्रीटमेंट किया जाता है

आरती एम अग्निहोत्री | चंडीगढ़ सिखों के छठे गुरु श्री गुरु हरगोबिंद साहिब जी जिस चोले को पहनकर जहांगीर की मौजूदगी...

Dainik Bhaskar

Jun 10, 2018, 02:00 AM IST
इस क्लीनिक में बिगड़ते हेरिटेज का ट्रीटमेंट किया जाता है
आरती एम अग्निहोत्री | चंडीगढ़

सिखों के छठे गुरु श्री गुरु हरगोबिंद साहिब जी जिस चोले को पहनकर जहांगीर की मौजूदगी में 52 राजाओं को छुड़ाकर लाए थे। वह 400 साल पुराना सिल्क का चोला लुधियाना के पास गांव घुढानी कलां के एक गुरुद्वारे में था। उसपर फंगस लग गई थी और तीन-चार जगह से उधड़ा सा था। 5 दिन तक इसका ट्रीटमेंट हुआ और अब ये उसी गुरुद्वारे में एसिड फ्री फोमकोर बोर्ड में रखा गया है। यहां वेंटिलेशन न होने की वजह से अब इस बोर्ड में थोड़ा उमस आ गया है तो सिटी बेस्ड नमिता जसपाल इसके बोर्ड को बदलने की सोच रही हैं। वो इसलिए क्योंकि नमिता की इससे बड़ी यादें जुड़ी हैं। उन्होंने 2011 में लगातार 15 दिन हर रोज इस गुरुद्वारे में जाकर इसका ट्रीटमेंट किया था। नमिता हेरिटेज प्रिजर्वेशन आटिलियर की निदेशक हैं। उन्होंने नेशनल म्यूजियम दिल्ली से कंजर्वेशन ऑफ कल्चरल प्रॉपर्टी में मास्टर्स की है। इस वक्त वह मॉन्यूमेंट्स और कलेक्शंस सहित हेरिटेज प्रॉपर्टी की कंजर्वेशन कंसल्टेंसी कर रही हैं। बताती हैं- हेरिटेज को कंजर्व करने की टेक्नीक साइंस और आर्ट का मिक्स है। इसे प्रैक्टिस करने वाले को फिजिकल लॉ, कैमिकल, ऐस्थेटिक सेंस, आर्टिस्टिक हैंड और आर्ट की समझ होना जरूरी है। वह इस दिशा में साल 2006 से काम कर रही हैं। नमिता कहती हैं- मैंने ग्रेजुएशन में बीएससी की पढ़ाई की। साइंस की स्टूडेंट होने के नाते हमेशा यही सोचती थी कि पुरानी चीजों को संभालने की जरूरत क्या है, नई बनाओ। पर पढ़ाई करने के बाद समझ आया कि ये सब तो मानव सभ्यता की यादगार चीजें हैं। इन्हें संभालना बेहद जरूरी है। इन चीजों को कंजर्व करते हुए मुझे एहसास हुअा कि पुराने समय में लोग कितनी बारीकी से काम करते थे। उनकी तकनीकें भी सही होती थीं। इन्हें देखकर लगता है कि कहीं हम पिछड़ तो नहीं रहे।

सिटी बेस्ड नमिता जसपाल मॉन्यूमेंट्स और कलेक्शंस सहित हेरिटेज प्रॉपर्टी की कंजर्वेशन कंसल्टेंसी और ट्रीटमेंट कर रही हैं। इसी पर हमने उनसे बात की।

अब तक इन सब पर काम कर चुकी हैं


इन्हें किया जाता है कंजर्व और प्रिजर्व




स्टेटिक बिल्डिंग्स, पेंटिंग्स, पेपर, फोटोग्राफ्स, टेक्सटाइल, सिरेमिक्स, स्टोन, मेटल, हाथ से लिखी मैनुस्क्रिप्ट्स, आर्किलोजिकल ऑब्जेक्ट्स, प्रिंट्स, पेंटिंग्स अादि।


ऐसे करती हैं ट्रीटमेंट





इस क्लीनिक में बिगड़ते हेरिटेज का ट्रीटमेंट किया जाता है
इस क्लीनिक में बिगड़ते हेरिटेज का ट्रीटमेंट किया जाता है
X
इस क्लीनिक में बिगड़ते हेरिटेज का ट्रीटमेंट किया जाता है
इस क्लीनिक में बिगड़ते हेरिटेज का ट्रीटमेंट किया जाता है
इस क्लीनिक में बिगड़ते हेरिटेज का ट्रीटमेंट किया जाता है
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..