--Advertisement--

शूटिंग सीखने से पहले एक कप कॉफी

चंडीगढ़ | इंटरनेशनल शूटिंग में कई मेडल हासिल कर चुके अंकुश भारद्वाज जब हंगरी गए तो उन्होंने गोल्फ कैफे देखा, जिसमें...

Dainik Bhaskar

Jun 10, 2018, 02:00 AM IST
शूटिंग सीखने से पहले एक कप कॉफी
चंडीगढ़ | इंटरनेशनल शूटिंग में कई मेडल हासिल कर चुके अंकुश भारद्वाज जब हंगरी गए तो उन्होंने गोल्फ कैफे देखा, जिसमें लोग गोल्फ के साथ ही कॉफी का मजा भी ले सकते थे। इसी कांसेप्ट को वे इंडिया में लाए और सेक्टर-70 मोहाली में ‘द शूटर्स कैफे’ की शुरुआत की। इस कैफे में आपको सबकुछ शूटिंग से जुड़ा मिलेगा। कैफे के एंबियंस से लेकर उसके मेन्यू कार्ड में जो आइटम्स हैं उसे शूटिंग में इस्तेमाल होने वाली चीजों से जोड़ा है। कैफे की बेसमेंट में शूटिंग रेंज है, जिसमें 10 मीटर तक फायर कर सकते हैं। खासबात यह है कि इस रेंज में प्रोफेशनल ट्रेनिंग तो दी ही जाती है, साथ ही कैफे में आने वाला कोई गेस्ट जो शूटिंग का शौक रखता हो तो उसके पास भी मौका होगा कि वह निशाने पर एयर राइफल या एयर पिस्टल से गोलियां चला सके। यहां डिशेज का नाम भी इसी आधार पर है जैसे- सेफ्टी सैंडविच, बैरल रैप, सीजफायर क्वीसैडिलाज, थिन क्रस्ट पिस्टल पीजा, बुल्स आई बर्गर, राइफल रोल्स आदि। अंकुश भारद्वाज अब तक 20 इंटरनेशनल, 50 नेशनल और 100 स्टेट लेवल पर गोल्ड, सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल जीत चुके हैं।

इनपुट: गौरव भाटिया

इंटरनेशनल शूटर अंकुश भारद्वाज अपनी फॉरेन मेड 10 मीटर एयर पिस्टल के साथ।

किस्मत, रघु और दक्ष को शूटिंग की प्रैक्टिस करवाते कोच राहुल और मुकुल।

मंजोत संद्धू, परनीत और जान्हवी कैफे में ड्रिंक्स का मजा लेते।

एंट्री पर लगा पोस्टर।

राजविंदर पाल सिंह, पवनदीप कौर, हरविंदर कौर और दलजीत कौर के बच्चे रेस्टोरेंट की बेसमेंट में प्रैक्टिस कर रहे हैं

मेन्यू कार्ड में आइटम्स के नाम शूटिंग से संबंधित रखे गए हैं।

शूटिंग सीखने से पहले एक कप कॉफी
शूटिंग सीखने से पहले एक कप कॉफी
शूटिंग सीखने से पहले एक कप कॉफी
शूटिंग सीखने से पहले एक कप कॉफी
शूटिंग सीखने से पहले एक कप कॉफी
X
शूटिंग सीखने से पहले एक कप कॉफी
शूटिंग सीखने से पहले एक कप कॉफी
शूटिंग सीखने से पहले एक कप कॉफी
शूटिंग सीखने से पहले एक कप कॉफी
शूटिंग सीखने से पहले एक कप कॉफी
शूटिंग सीखने से पहले एक कप कॉफी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..