--Advertisement--

चार साल पुराने धोखाधड़ी के मामले में चालान पेश

तत्कालीन डीसी मोहम्मद शाईन के आदेश पर 4 लोगों के खिलाफ दर्ज हुए धोखाधड़ी के मामले में 4 साल बाद पुलिस ने कोर्ट में...

Dainik Bhaskar

Jun 12, 2018, 02:05 AM IST
तत्कालीन डीसी मोहम्मद शाईन के आदेश पर 4 लोगों के खिलाफ दर्ज हुए धोखाधड़ी के मामले में 4 साल बाद पुलिस ने कोर्ट में चालान पेश किया। गलत एफिडेविट देकर को-ऑपरेटिव हाउस बिल्डिंग सोसायटी स्कीम के तहत मकान अलॉट करवाने के इस मामले में पुलिस ने आज्ञा राम अग्रवाल और अमृत पाल कौर को आईपीसी की धारा 420 और 120बी के तहत आरोपी बनाया है। मामले में कुल 4 आरोपी थे। जिनमें से एक राजेंद्र सिंह को अदालत भगौड़ा घोषित कर चुकी है, जबकि शकुंतला खंडेलवाल की मौत हो चुकी है। 15 अक्टूबर 2014 को दर्ज मामले के अनुसार, 1991 में को-ऑपरेटिव हाउस बिल्डिंग सोसायटी स्कीम के तहत मकान अलॉट होने थे। इनमें आज्ञा राम अग्रवाल, राजेंद्र सिंह, अमृत पाल कौर व शकुंतला खंडेलवाल ने मकान लेने के लिए यह कहते हुए एफिडेविट दायर किया था कि उनका या फिर उनके परिवार के सदस्यों के नाम पर कोई भी मकान नहीं है। लेकिन, जब मकान अलॉटमेंट के लिए चारों आरोपियों की वेरिफिकेशन की गई तो पता चला कि आज्ञा राम अग्रवाल की प|ी विनोद बाला का पंचकूला स्थित सेक्टर-9 में प्लॉट है। बाकी आरोपियों के नाम भी चंडीगढ़ में मकान थे।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..