Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» एयरपोर्ट पहुंचकर पता चला-फ्लाइट कैंसिल

एयरपोर्ट पहुंचकर पता चला-फ्लाइट कैंसिल

सिटी रिपोर्टर | चंडीगढ़/माेहाली मोहाली इंटरनेशनल एयरपोर्ट के डिपार्चर वाले मेनगेट से जहां लोग फ्लाइट पकड़ने के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 15, 2018, 02:05 AM IST

एयरपोर्ट पहुंचकर पता चला-फ्लाइट कैंसिल
सिटी रिपोर्टर | चंडीगढ़/माेहाली

मोहाली इंटरनेशनल एयरपोर्ट के डिपार्चर वाले मेनगेट से जहां लोग फ्लाइट पकड़ने के लिए खुश होकर और यात्रा को लेकर उत्साहित होकर निकलते हैं, वहां से वीरवार को लोग मायूस होकर वापस आ रहे थे। हाथों में सामान और चेहरे पर थकान लिए लोग अपने कानों पर मोबाइल फोन लगाए घरवालों को फ्लाइट्स कैंसिल होने की जानकारी दे रहे थे। वापस आ रहे लोगों ने बताया कि फ्लाइट्स कैंसिल होने के कारण उन्हें अब कैब पर दिल्ली जाना होगा। वीरवार सुबह से ही एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स का आना जाना बंद था। जिन लोगों की वीरवार को फ्लाइट्स के लिए सीट बुक थी, वे सुबह से ही एयरपोर्ट पर पहुंचने लगे थे, लेकिन जब उन्हें फ्लाइट्स कैंसिल होने की जानकारी मिली तो वे मायूस हो गए।

दिल्ली जाने के लिए बुक करानी पड़ी कैब: एनआईटी हमीरपुर में तैनात डॉ. के. नल्लाशिवम अपने परिवार सहित चंडीगढ़ से दिल्ली जाने वाले थे, लेकिन उन्हें यहां आकर पता लगा कि उनकी फ्लाइट कैंसिल हो गई है। उन्होंने बताया कि उनकी दिल्ली से साउथ की फ्लाइट है, जिसके लिए उन्हें जल्दी से जल्दी दिल्ली पहुंचना है, ताकि उनकी फ्लाइटस कैंसिल न हो जाए। यहां से फ्लाइट कैंसिल होने के कारण उन्हें दिल्ली जाने के लिए कैब बुक करानी पड़ी, ताकि वो समय पर दिल्ली पहुंचकर फ्लाइट पकड़ सकें।

लोग एयरपोर्ट पर बैठकर होते रहे परेशान

रोपड़ के एक गांव से अपने परिवार सहित पहुंचे हरजीत सिंह ने बताया कि उन्हें जम्मू जाना था। इसके लिए वे एयरपोर्ट पर परिवार सहित पहुंचे है। अब पता चला है कि फ्लाइट कैंसिल हो गई है तो वापस राेपड़ जाना होगा। छोटे-छोटे बच्चों को बैठने की जगह नहीं मिल रही थी तो वे ट्राॅली पर ही बैठ कर समय बिता रहे थे। हरजीत सिंह ने बताया कि अब वे किसी दूसरे दिन जाएंगे।

इसलिए नहीं हुईं ऑपरेट... 12 विंग एयरफोर्स स्टेशन के एओसी-इन-सी एस श्रीनिवासन ने बताया कि चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर इन दिनों आईएलएस अपग्रेडेशन का काम चल रहा है। इसके चलते ग्राउंड लाइटिंग सिस्टम भी बंद है। इससे 1500 मीटर की विजिबिलिटी होने के बावजूद फ्लाइट ऑपरेशन नहीं हो सका। वर्तमान कैट-2 इंस्ट्रूमेंट लैंडिंग सिस्टम चल रहा होता तो 1250 मीटर की विजिबिलिटी पर फ्लाइट ऑपरेशन हो सकता था। आईएलएस के काम की वजह से विजिबिलिटी 2600 मीटर तक पहुंच गई। शुक्रवार को भी मौसम ऐसा ही रहने की संभावना है, लेकिन मौसम विभाग के मुताबिक दोपहर बाद विजिबिलिटी में सुधार हो सकता है। हालांकि पूरी तरह विजिबिलिटी में सुधार बारिश के बाद ही होगा। संभवत: आज भी फ्लाइट्स प्रभावित हो सकती है। सितंबर तक ग्राउंड लाइटिंग सिस्टम के साथ-साथ कैट-3बी आईएलएस का काम हो जाएगा।

शारजाह के लिए दिल्ली से ऑपरेट हुई फ्लाइट

चंडीगढ़ से एयर इंडिया एक्सप्रेस की शारजाह फ्लाइट वीरवार को चंडीगढ़ की जगह दिल्ली से ऑपरेट की गई। ऐसे में एयरलाइंस ने यात्रियों को सड़क मार्ग से दिल्ली भेजा। जो लोग दिल्ली से सफर नहीं करना चाहते थे, उनके पैसे वापस कर दिए गए। बैंकॉक की फ्लाइट को भी चंडीगढ़ के बजाय दिल्ली में लैंड करवाया गया और वहां से चंडीगढ़ आने वाले यात्रियों को कैब की सुविधा मुहैया करवाई गई। चंडीगढ़ से शिमला के बीच चलने वाली हैली टैक्सी के बारे में जॉइंट जीएम कॉर्पोरेट अफेयर्स राम कृष्ण ने बताया कि पुअर विजिबिलिटी में हेलीकॉप्टर ऑपरेट होगा या नहीं, इस बारे में फैसला सुबह ही लिया जाएगा।

धूलभरी हवाएं चलने के बाद जमी मिट्‌टी में नजर आए पैरों के निशान

शहर में धूलभरी हवा चलने से जगह-जगह मिट्‌टी जमी नजर आई। सुखना लेक के पास इतनी धूल जम गई कि यहां सैर करने वाले लोगों के पैरों के निशान मिट्‌टी पर नजर आने लगे। फोटो भास्कर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: एयरपोर्ट पहुंचकर पता चला-फ्लाइट कैंसिल
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×