--Advertisement--

लाखों की धोखाधड़ी का मामला: बैंक मैनेजर की जमानत याचिका खारिज

चंडीगढ़ | लाखों रुपए की धोखाधड़ी से संबंधित मामले में जिला अदालत ने आरोपी बैंक के पूर्व वेल्थ मैनेजर अरुण सलूजा की...

Dainik Bhaskar

Jun 15, 2018, 02:05 AM IST
लाखों की धोखाधड़ी का मामला: बैंक मैनेजर की जमानत याचिका खारिज
चंडीगढ़ | लाखों रुपए की धोखाधड़ी से संबंधित मामले में जिला अदालत ने आरोपी बैंक के पूर्व वेल्थ मैनेजर अरुण सलूजा की जमानत याचिका खारिज कर दी। मनीमाजरा थाना पुिलस ने पिछले साल सलूजा के खिलाफ धोखाधड़ी व अन्य धाराओं के तहत संबंधित केस दर्ज किया गया था। इससे पहले भी आरोपी की फरवरी में जमानत याचिका खारिज हो चुकी है। अदालत में दायर की गई जमानत याचिका में सलूजा ने कहा गया था कि उसके खिलाफ पुलिस ने झूठा केस दर्ज किया है। उसका केस से कोई लेना-देना नहीं है। उसने जमानत मिलने पर पुलिस को जांच में सहयोग करने और केस को प्रभावित न करने की दलील दी थी। वहीं पुलिस की ओर से आरोपी की जमानत का यह कहते हुए विरोध किया गया था कि आरोपी ने कुछ और लोगों के साथ भी करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी की हुई है।

परल्यूड टावर्स में 300 परिवार रहते हैं, मेंटेनेंस चार्ज भी ज्यादा फिर भी सिक्योरिटी नहीं: एसोसिएशन

बंद फ्लैट्स के ताले तोड़ लाखों के गहने, नकदी चोरी

सिटी रिपोर्टर | डेराबस्सी

शहर के सबसे हाईफाई हाउसिंग प्रोजेक्ट एटीएस अपार्टमेंट्स के परल्यूट टावर्स के 2 बंद फ्लैट्स के ताले तोड़ चोर लाखों रुपए के गहने और नकदी समेत फरार हो गए। अपार्टमेंट की रेजिडेंशियल एसोसिएशन के उपप्रधान राजधन, महासचिव डॉ. आनंद, सदस्य बलजीत कारकौर व गौरव सिंगला ने बताया कि परल्यूड टावर्स में करीब 300 साधन संपन्न परिवार रहते हैं। सोसायटी में रहने के पीछे लोगों का सबसे बड़ा कारण सामाजिक, आर्थिक व नागरिक सिक्योरिटी है, लेकिन सिक्योरिटी के पुख्ता इंतजाम नहीं हंै। इस अपार्टमेंट में मासिक मेंटेनेंस चार्ज 5 हजार रुपए से लेकर 7 हजार रुपए तक है जो डेराबस्सी में सबसे महंगे हैं। प्रबंधकों को 20 लाख रुपए से ज्यादा मेंटेनेंस शुल्क हर महीने इकट्ठा होता है। उन्होंने कहा कि चोरी बड़ी सुनियोजित तरीके से की गई और सीसीटीवी फुटेज में कहीं कुछ नजर नहीं आ रहा। चोरी का सुबह पता चलने पर पुलिस को 5 घंटे बाद बुलाया गया। एसोसिएशन कई बार सिक्योरिटी समेत नागरिक सुविधाओं में कमी को लेकर प्रबंधकों को लिखित में शिकायत दे चुकी है, लेकिन प्रबंधकों ने इसे गंभीरता से नहीं लिया।


मैनेजर गुरप्रीत के अनुसार हर टावर में 3 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, जिनका कंट्रोल सीनियर फैसिलिटी मैनेजर संदीप के पास है। उन्होंने दावा किया कि सभी वर्किंग कंडिशन में ही हैं। चोरी रात के समय हुई है। थाना प्रभारी मोहिंदर सिंह के अनुसार सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली जा रही है जिसकी सहायता से संदिग्ध लोगों से पूछताछ भी शुरू हो गई है। जल्द ही चोर पकड़े जाएंगे। फ्लैट मालिकों के आने पर उनके मुताबिक शिकायत दर्ज की जाएगी।

X
लाखों की धोखाधड़ी का मामला: बैंक मैनेजर की जमानत याचिका खारिज
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..