चंडीगढ़ समाचार

--Advertisement--

मंत्रियों व विधायकों की सुरक्षा होगी रिव्यू, जरूरत अनुसार मिलेंगे कमांडो

चंडीगढ़ . पंजाब पुलिस ने सभी मंत्रियों और विधायकों की सिक्योरिटी रिव्यू करने का फैसला किया है। फैसला किया गया है कि...

Dainik Bhaskar

Jun 15, 2018, 02:05 AM IST
चंडीगढ़ . पंजाब पुलिस ने सभी मंत्रियों और विधायकों की सिक्योरिटी रिव्यू करने का फैसला किया है। फैसला किया गया है कि जिन मंत्रियाें और विधायकों को गैंगस्टर्स या आतंकियों से थ्रेट है, उनकी सुरक्षा में हाईटेक हथियारों से लैस कमांडो तैनात किए जाएंगे। वहीं, जेल मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा को विदेशों में बैठे आतंकियों से मिल रही धमकियों के बाद उनकी सिक्योरिटी बढ़ाने के लिए आईजी बॉर्डर रेंज की ड्यूटी लगाई गई है। वे रंधावा की सिक्योरिटी संबंधी रिपोर्ट तैयार कर एडीजीपी सिक्योरिटी को देंगे। रंधावा के पास अभी 20 से 22 पुलिस जवान हैं। हाल ही में रंधावा ने कहा था कि उन्हें विदेशों से धमकियां मिल रही है।

रंधावा की सिक्योरिटी बढ़ाने के लिए आईजी बॉर्डर रेंज को सौंपी जिम्मेदारी

अकाली नेताआें की सुरक्षा बरकरार रखने पर कई कांग्रेसी हुए खफा

अकाली दल के सीनियर नेताओं को अब भी ज्यादा सिक्योरिटी दिए जाने से कई कांग्रेसी नेताओं में रोष बढ़ रहा है। उनका कहना है कि जिन नेताओं को कोई खतरा नहीं है, उनकी सिक्योरिटी भी बढ़ाई गई है। जेल मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने आरोप लगाया कि विधायक विक्रम मजीठिया को सिक्योरिटी ज्यादा दी गई है। उन्हें केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से पिछले 9 साल से जेड प्लस सिक्योरिटी दी गई है। बता दें कि नियमों के अनुसार मंत्रियों की सिक्योरिटी में एक पायलट, एक एस्कॉर्ट, करीब 15 पुलिसकर्मी तैनात रहते हैं।

X
Click to listen..