Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» प्रॉपर्टी का पजेशन न देने के मामले में सन्नी एन्क्लेव के मालिक बाजवा को दो साल कैद

प्रॉपर्टी का पजेशन न देने के मामले में सन्नी एन्क्लेव के मालिक बाजवा को दो साल कैद

पंजाब स्टेट कंज्यूमर डिस्प्यूट्स रेडरेसल कमीशन ने सेक्टर-49 के हरजिंदर सिंह की शिकायत पर बाजवा डेवलपर्स के एमडी और...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 12, 2018, 02:10 AM IST

प्रॉपर्टी का पजेशन न देने के मामले में सन्नी एन्क्लेव के मालिक बाजवा को दो साल कैद
पंजाब स्टेट कंज्यूमर डिस्प्यूट्स रेडरेसल कमीशन ने सेक्टर-49 के हरजिंदर सिंह की शिकायत पर बाजवा डेवलपर्स के एमडी और सन्नी एन्क्लेव के मालिक जरनैल सिंह बाजवा को 2 साल की सजा सुनाई है। कमीशन ने 10 हजार रुपए जुर्माना भी लगाया। सेक्टर-49 की यंग ड्वेलपर्स सोसायटी के हरजिंदर सिंह ने 8 साल पहले मोहाली में मरीनर्स बिल्डकॉन के प्रोजेक्ट में विला लेने के लिए 20 लाख जमा करवाए थे। प्रोजेक्ट के लिए मरीनर्स बिल्डकॉन और बाजवा डेवलपर्स के बीच करार हुआ था, ऐसे में कंज्यूमर कमीशन ने अनफेयर ट्रेड प्रैक्टिस के लिए दोनों को जिम्मेदार ठहराया। हरजिंदर के वकील इंद्रजीत सिंह ने बताया कि कई साल बीतने के बाद भी प्रोजेक्ट पर कंस्ट्रक्शन नहीं हुई। उन्होंने कंज्यूमर कमीशन में शिकायत दे दी। 2016 में कमीशन ने 20 लाख रुपए रिफंड करने और 2 लाख रुपए कंपनसेशन अदा करने का फैसला सुनाया था। साथ ही 21 हजार रुपए मुकदमा खर्च भी देने को कहा गया। लेकिन कमीशन के इन आदेशों की न तो मरीनर्स बिल्डकॉन ने परवाह की और न बाजवा डेवलपर्स ने। पिछले साल हरजिंदर ने एग्जीक्यूशन पिटीशन फाइल की। इस पर अब कमीशन ने फैसला सुनाते हुए कहा कि बाजवा डेवलपर्स भी बराबर के जिम्मेदार हैं। उन्हें अपने बचाव के लिए काफी मौका दिया गया। जब उन्होंने आदेश नहीं माने तो उन्हें कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट के सेक्शन 27 के तहत दोषी करार देते हुए 2 साल की सजा सुनाई गई।

ये था मामला: मरीनर्स बिल्डकॉन ने सेक्टर-123 में मोहाली ओसेनिक नाम से प्रोजेक्ट शुरू किया था, जिसमें 200 इंडिपेंडेंट विला बनाए जाने थे। ये प्रोजेक्ट उन्होंने बाजवा डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड के साथ मिलकर शुरू किया। शिकायत के मुताबिक हरजिंदर सिंह ने 10 सितंबर, 2012 तक कंपनी को 20 लाख रुपए जमा करवाए थे जोकि उन्होंने चार अलग-अलग चेक्स के जरिए दिए। इसी बीच 12 जून 2013 को कंपनी ने 300 यार्ड्स का एक विला शिकायतकर्ता को अलॉट कर दिया। विला का 1885 स्क्वायर फीट एरिया कंपनी को तैयार कर देना था। लेकिन कंपनी ने कंस्ट्रक्शन का काम शुरू नहीं किया। जिस पर तंग आकर हरजिंदर ने कंपनी के खिलाफ पंजाब कंज्यूमर कमीशन में शिकायत दी।

मरीनर्स बिल्डकॉन की तरफ से नहीं हुआ कोई पेश

एडवोकेट इंद्रजीत सिंह ने बताया कि मरीनर्स बिल्डकॉन की तरफ से जवाब देने के लिए कमीशन में कोई पेश नहीं हुआ। जिस पर कमीशन ने कंपनी के लिए एक्स पार्टी प्रोसिजर शुरू कर दिया था। वहीं, बाजवा डेवलपर्स के एमडी जरनैल सिंह बाजवा ही कमीशन में पेश हुए। उन्होंने कहा कि शिकायतकर्ता और उनके बीच कोई करार नहीं हुआ था। इसलिए उनके खिलाफ कंप्लेंट नहीं बनती।

हमारा कोई रोल ही नहीं

इस मामले में मेरा कोई लेना-देना नहीं है। मैंने कोर्ट में यह बता भी दिया था। अब इस फैसले के खिलाफ ऊपरी अदालत में जाएंगे।

-जरनैल सिंह बाजवा

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×