• Hindi News
  • Union Territory
  • Chandigarh
  • News
  • शेड्यूल जारी: सीसीईटी में इस बार लेटरल एंट्री के लिए यूटी की 41 और ऑल इंडिया की 7 सीटें
--Advertisement--

शेड्यूल जारी: सीसीईटी में इस बार लेटरल एंट्री के लिए यूटी की 41 और ऑल इंडिया की 7 सीटें

Dainik Bhaskar

Jun 12, 2018, 02:10 AM IST

News - ननु जोगिंदर सिंह चंडीगढ़ | nj. singh@dbcorp.in पीयू ने लेटरल इंजीनियरिंग एंट्रेंस टेस्ट के लिए शेड्यूल जारी कर दिया है। इस...

शेड्यूल जारी: सीसीईटी में इस बार लेटरल एंट्री के लिए यूटी की 41 और ऑल इंडिया की 7 सीटें
ननु जोगिंदर सिंह चंडीगढ़ | nj. singh@dbcorp.in

पीयू ने लेटरल इंजीनियरिंग एंट्रेंस टेस्ट के लिए शेड्यूल जारी कर दिया है। इस बार लेटरल एंट्री के जरिये चंडीगढ़ कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी सेक्टर-26 में कुल 48 सीटें उपलब्ध हैं, जिसमें से यूटी के स्टूडेंट के लिए 41 सीटें रिजर्व हैं। इन सीटों पर इंजीनियरिंग का 3 साल का डिप्लोमा करने वाले स्टूडेंट्स अप्लाई कर सकते हैं जिनके अंक कम से कम 60 फीसदी हों। एससी व पीडब्ल्यूडी कैंडिडेट्स को 5 फीसदी छूट मिलेगी। लेटरल एंट्री एडमिशन बीटेक सेकंड ईयर में होती है।

ये है एडमिशन का शेड्यूल










(फॉर्म की हार्ड कॉपी व डॉक्यूमेंट जमा कराने होंगे काउंसिलिंग के समय)

पहली काउंसिलिंग



इसका रखें ध्यान





यह है सीटें:







एसडी कॉलेज-32 में कॉमर्स का रिसर्च सेंटर और बीए में जिओग्राफी कोर्स शुरू

एसडी कॉलेज शहर का पहला कॉलेज है जिसमें कॉमर्स का रिसर्च सेंटर

एजुकेशन रिपोर्टर | चंडीगढ़

एसडी कॉलेज सेक्टर-32 में इस एकेडेमिक सेशन से पीएचडी इन कॉमर्स शुरू होने जा रही है। पंजाब यूनिवर्सिटी की ओर से अप्रूवल मिल गई है। जुलाई से शुरू होने वाले इस सेशन में इसके लिए एडमिशंस होंगी। एसडी कॉलेज शहर का पहला ऐसा कॉलेज है जिसमें कॉमर्स का रिसर्च सेंटर खुल गया है क्योंकि कॉलेज में इस सेशन से कॉमर्स इन पीएचडी शुरू होने जा रही है। इसके अलावा बीए करने वाले स्टूडेंट्स के लिए भी वहां जिओग्राफी का कोर्स भी शुरू होने जा रहा है।

बीए फर्स्ट ईयर में कॉलेज में करीब 700 स्टूडेंट्स एडमिशन लेंगे और उन्हें इस सब्जेक्ट को चुनने की ऑप्शन मिलेगी। एसडी कॉलेज में पीएचडी करने के लिए पीयू के यूबीएस डिपार्टमेंट में 2 जुलाई तक एडमिशन फॉर्म भरना होगा।

हर साल बढ़ेंगी 4 सीटें: अभी कॉलेज के पास चार रिसर्च गाइड हैं और कॉलेज में चार सीटों पर ही एडमिशन की जा सकती है। लेकिन हर साल कॉलेज में 4 सीटें बढ़ेंगी। कॉलेज में इसके लिए रिसर्च सेंटर शुरू किया जाएगा। इसका कोर्स वर्क यानी रिसर्च मैथडोलॉजी का काम पीयू के यूबीएस में होगा। पहला एक साल एसडी कॉलेज में एडमिशन लेने वाले स्टूडेंट्स यूबीएस में क्लासेज लगाएंगे। अगले तीन साल एसडी कॉलेज में क्लासें लगेंगी। जब कॉलेज में पीएचडी के स्टूडेंट्स 10 से ज्यादा हो जाएंगे तब स्टूडेंट्स को यूबीएस नहीं जाना होगा।


-भूषण कुमार शर्मा, प्रिंसिपल, एसडी कॉलेज सेक्टर-32

एमबीए, एमकॉम, सीए और सीएस कर चुके एलिजिबल

एसडी कॉलेज में कॉमर्स डिपार्टमेंट के एचओडी प्रोफेसर अजय शर्मा ने बताया कि जो स्टूडेंट्स एमबीए, एमकॉम, सीए या सीएस कर चुके हैं वह इस पीएचडी में एडमिशन लेने के लिए एलिजिबल होंगे। इसमें एडमिशन एंट्रेंस टेस्ट के आधार पर होगा। यह एंट्रेंस भी यूबीएस डिपार्टमेंट की ओर से ही लिया जाएगा। एसडी कॉलेज में इससे पहले भी पीएचडी के कोर्स करवाए जाते हैं। इसमें फिजिक्स, बायोटेक और केमिस्ट्री के सब्जेक्ट्स शामिल हैं।

X
शेड्यूल जारी: सीसीईटी में इस बार लेटरल एंट्री के लिए यूटी की 41 और ऑल इंडिया की 7 सीटें
Astrology

Recommended

Click to listen..