--Advertisement--

एन चो में पीजीआई से आ रहा है किचन, लाॅन्ड्री वेस्ट

एन चो की सफाई करने के लिए एमसी की ओर से अभियान चलाया हुआ है। इसी अभियान के दौरान एमसी पब्लिक हेल्थ के एक्सईएन हरीश...

Danik Bhaskar | Jun 12, 2018, 02:10 AM IST
एन चो की सफाई करने के लिए एमसी की ओर से अभियान चलाया हुआ है। इसी अभियान के दौरान एमसी पब्लिक हेल्थ के एक्सईएन हरीश सैनी ने अपनी टीम को शनिवार और सोमवार को लगाकर एन चो में गिरने वाली स्टॉर्म वाॅटर की लाइन चेक करवाई। इसमें पीजीआई से आने वाली स्टॉर्म वाॅटर लाइन में किचन वेस्ट, लाॅन्ड्री वेस्ट मिक्स होकर आ रहा है। दो पॉइंट बीच में हैं जहां से इस लाइन में सीवर मिक्स हो रहा है। इसे किसने इल्लीगल ढंग से डाला है। इसका तो एमसी की टीम को पता नहीं चल सका है। अब एमसी इस लाइन के लेवल के हिसाब से इसे गर्मियों में सीवर लाइन में डायवर्ट करेगा और बरसात में लाइन में पानी 3 फुट होने पर ही एन चो में गिरेगा।

एक्सईएन हरीश सैनी का कहना है कि सीवर पॉइंट तो पकड़ में आ गया है लेकिन किसने स्टॉर्म वाॅटर लाइन में डाला है इसका पता लगाना है। या तो लाइन को बंद करके चेक किया जा सकता है। अगर लाइन बंद कर दी तो उसकी टॉयलेट ओवरफ्लो हो जाएगी। इससे इल्लीगल सीवर डालने वाले को खुद ही पता चल जाएगा। उसके यहां टॉयलेट ओवरफ्लो होंगी तो वह खुद ही सामने आ जाएगा। उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। अभी इसे अस्थाई तौर पर सीवर लाइन में डायवर्ट किया जाएगा। जब बरसात होगी तो तीन फुट लेवल से ज्यादा लाइन में पानी आएगा तो पूरा पानी एन चो में गिरने लगेगा।