--Advertisement--

गुस्से पर नियंत्रण करने का उपाय मौन रहना: शास्त्री

क्रोधी व्यक्ति कभी भी शांति को प्राप्त नहीं कर पाता। क्रोध करने से केवल हानि होती है। क्रोध को नरक का द्वार बताया...

Dainik Bhaskar

Jun 12, 2018, 02:10 AM IST
क्रोधी व्यक्ति कभी भी शांति को प्राप्त नहीं कर पाता। क्रोध करने से केवल हानि होती है। क्रोध को नरक का द्वार बताया गया है। कई व्यक्ति होते हैं जो थोड़ी थोड़ी बातों पर उतेजित हो जाते हैं।

क्रोधी व्यक्ति अपना विवेक खो बैठता है। क्रोध का आक्रमण सबसे पहले बुद्धि पर होता है। ये प्रवचन ईश्वर चंद्र शास्त्री ने प्राचीन खेड़ा शिव मंदिर सेक्टर 28 में राम कथा में दिए। सोचने समझने की शक्ति खत्म हो जाती है, उसे पता नहीं रहता कि मैंने क्या बोलना है क्या नहीं। हमारे ग्रंथों में शाप की जो बातें आती हैं वो क्रेाध के कारण ही होती हैं जैसे जय विजय को शाप दिया ऋषियों ने, अहिल्या को शाप दिया गौतम ऋषि ने, परीक्षित राजा को शाप दिया श्रृंगी ऋषि ने। ये सब क्रोध के कारण ही हुआ।

परशुराम और लक्ष्मण का चरित्र सुनते हुए कहा कि जो व्यक्ति क्रोध पर नियंत्रण रखता है वह कई प्रकार की परेशानियों से बचा रहता है। क्रोध को नियंत्रण करने का सबसे बड़ा उपाय है मौन रहना तभी आप अपने गुस्से पर काबू पा सकते हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..