--Advertisement--

13 जून मलमास का अंतिम दिन, शुभ दिन होंगे आरंभ

अधिक मास में, विवाह तथा नए कार्यों का आरंभ अशुभ माना जाता है। अब 13 जून बुधवार को इस पुरुषोत्तम मास का अंतिम दिन है,...

Danik Bhaskar | Jun 12, 2018, 02:10 AM IST
अधिक मास में, विवाह तथा नए कार्यों का आरंभ अशुभ माना जाता है। अब 13 जून बुधवार को इस पुरुषोत्तम मास का अंतिम दिन है, जिसके बाद मांगलिक कार्यों के लिए शुभ दिन आरंभ हो जाएंगे। जिन लोगों ने इस मलमास, अधिक मास या पुरुषोत्तम मास में व्रत रखे थे या नहीं भी रखे उन्हें 13 जून को भगवान पुरुषोत्तम यानि श्रीकृष्ण या विष्णु भगवान का श्रद्धापूर्वक पूजन मंत्र जाप एवं हवन करना चाहिए। ज्योतिषाचार्य मदन गुप्ता सपाटू ने बताया कि अधिक मास की समाप्ति पर स्नान दान जप का अत्यधिक महत्व होता है। व्रत का उद्यापन करके ब्राह्मणों को भोजन कराने के साथ श्रद्धानुसार दान भी करना चाहिए। इस दिन वस्त्र अन्न गुड़ घी कनक वस्त्र फल का दान करना चाहिए। इसके अलावा भगवान को तीन बार अर्घ्य दें तथा ब्राह्मणों व जरूरतमंदों को दान दें । 16 जून को रम्भा तीज का व्रत महिलाओं द्वारा रखने से परिवार में सुख, शांति, समृद्धि आती है और पुत्र प्राप्ति की संभावना प्रबल होती है।