--Advertisement--

बापूधाम और राजीव कॉलोनी के बदमाशों ने चलाई गोलियां, वजह-साल पहले का झगड़ा

मौली गांव में रविवार रात हुई अंधाधुंध फायरिंग का कारण एक साल पहले का विवाद था। दरअसल एक साल पहले मौलीजागरां के...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:05 AM IST
बापूधाम और राजीव कॉलोनी के बदमाशों ने चलाई गोलियां, वजह-साल पहले का झगड़ा
मौली गांव में रविवार रात हुई अंधाधुंध फायरिंग का कारण एक साल पहले का विवाद था। दरअसल एक साल पहले मौलीजागरां के रहने वाले कल्लू का पंचकूला राजीव कॉलोनी के रहने वाले स्मैक नाम के लड़के के साथ विवाद हुआ था। उस दिन के बाद से ही कल्लू स्मैक व उनके साथियों की पहुंच से बाहर था। रविवार रात को स्मैक व उनके साथियों को सूचना मिली थी कि कल्लू की बहन की शादी है और वह वहां पर आया हुआ है। इसके बाद उन्होंने प्लान बनाया।

इस वारदात को अंजाम देने के लिए पंचकूला के अलावा चंडीगढ़ बापूधाम का बदमाश, रामदरबार और अन्य जगहों से बदमाशों को बुलाया गया। गुग्गा माड़ी के पास कम्युनिटी सेंटर की दीवार के साथ खड़े हुए फायर कर दिए। मौलीजागरां के रहने वाले सचिन, रवि और विकास को गोली लगी।

सचिन व रवि का जीएमसीएच 32 में इलाज चल रहा है। विकास की हालत बेहद गंभीर है। उसे पीजीआई में वेंटिलेटर पर रखा गया है। डॉक्टरों ने विकास के घरवालों को बताया है कि उसका दिमाग ठीक से काम नहीं कर रहा है और उसकी धड़कनें चल रही हैं।

मौली गांव में रविवार रात को हुई थी फायरिंग....

पुलिस द्वारा बताया गया कि कल्लू नाम का व्यक्ति यहां रहता है। इसका एक साल पहले स्मैक नाम के युवक के साथ झगड़ा हो गया था। स्मैक व उसके साथियों ने कल्लू के खिलाफ पंचकूला सेक्टर 16 की पुलिस चौकी में धारा 307 के तहत मामला दर्ज कराया था। कल्लू को उस दिन से ही स्मैक और उसके साथी मारने के लिए तलाश कर रहे थे।

बहन की शादी में तो आएगा कल्लू, इसलिए हमलावर पहले से थे तैयार

कल्लू की बहन की रविवार को विकास नगर के कम्युनिटी सेंटर में शादी थी। हमलावरों को उम्मीद थी कि कि कल्लू शादी में शामिल होने जरूर आएगा। इसलिए हमलावर तैयार थे। जहां कल्लू की बहन की शादी हो रही थी, वहां पर कुछ लोगों में झगड़ा हो गया। इसके चलते शादी में शामिल कुछ लड़के यहां मौली गांव की माड़ी के सामने आ गए। इसी दौरान स्मैक व उसके साथियों ने समझा कि कल्लू यहां है। उन्होंने यहां खड़े लड़कों पर हमला कर दिया। वहीं, कुछ लड़कों पर फायरिंग भी की। हालांकि हमलावरों को कल्लू तो नहीं मिला लेकिन तीन लड़के बुरी तरह घायल हो गए। बताया गया कि आरोपी पंचकूला स्थित राजीव कॉलोनी के रहने वाले हैं। राजीव कॉलोनी और मौली गांव के बीच बने पुल के रास्ते ही करीब दो दर्जन हमलावर यहां आए। इनके पास तलवारें व चाकू थे। पुलिस को घटना स्थल से कुछ दूरी पर चाकू पड़ा मिला है। आरोपी अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं।

हमने पहचान कर ली है..


दीवार के पीछे से हुई फायरिंग, जान बचाने के लिए घर में घुसे....

रजत शर्मा | चंडीगढ़: जिस समय फायरिंग हुई उस दौरान शादी में शरीक होने के बाद विकास, सचिन और रवि बाहर खड़े हुए थे। उनके साथ कुछ अन्य लड़के भी थे। वह करीब 10 से 12 लड़के थे। कुछ साथी बीयर पी रहे थे। इसी दौरान फायरिंग शुरू हो गई। रवि बताया-मैंने फायरिंग की आवाज सुनी। सामने देखा तो पाया कि कुछ लड़के जिनके हाथ में पिस्टल और तलवारें हैं वह फायर कर रहे हैं। मैं दाहिने हाथ की तरफ मुड़ा और भागने लगा तो एक गोली आई मेरी बाजू पर लगी और निकल गई। मैं भागकर एक घर में घुस गया। मैंने 100 नंबर पर कॉल की। मेरे हाथ से खून बह रहा था और समझ नहीं आ रहा था कि आखिर यह फायरिंग क्यों हो रही है। जब पीसीआर आई तो मैं खुद पीसीआर में जाकर बैठ गया। सचिन ने बताया-एक गोली मेरी टांग पर लगी। दूसरी हथेली से थोड़ा ऊपर लगी और मैं नीचे गिर गया। मैं मदद के लिए चिल्ला रहा था एक आदमी तलवार लेकर आया और मेरे सिर में वार किया। मैं वहीं पर गिरा मदद के लिए चिल्ला रहा था।

पंद्रह दिन पहले आया था विकास.. विकास अपने ताया के घर हिसार से आया हुआ था। वह 15 दिन पहले ही चंडीगढ़ आया था और यहां पर उसे काम करना था। उसकी उमर 18 साल की है। विकास का एक भाई है। वह अपने ताया के घर से रात को करीब 8 बजे निकला था। इस दौरान उसका चचेरा भाई भी साथ था।

बापूधाम और राजीव कॉलोनी के बदमाशों ने चलाई गोलियां, वजह-साल पहले का झगड़ा
X
बापूधाम और राजीव कॉलोनी के बदमाशों ने चलाई गोलियां, वजह-साल पहले का झगड़ा
बापूधाम और राजीव कॉलोनी के बदमाशों ने चलाई गोलियां, वजह-साल पहले का झगड़ा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..