Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» सुबह सर्कुलर आया-खिलाड़ियों को कमाई का 33% हिस्सा सरकार को देना होगा; दिनभर विरोध; शाम को फैसला होल्ड

सुबह सर्कुलर आया-खिलाड़ियों को कमाई का 33% हिस्सा सरकार को देना होगा; दिनभर विरोध; शाम को फैसला होल्ड

भास्कर न्यूज | चंडीगढ़/सोनीपत हरियाणा सरकार ने शुक्रवार को सरकारी नौकरी करने वाले खिलाड़ियों से कहा कि प्रोफेशनल...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 09, 2018, 03:05 AM IST

  • सुबह सर्कुलर आया-खिलाड़ियों को कमाई का 33% हिस्सा सरकार को देना होगा; दिनभर विरोध; शाम को फैसला होल्ड
    +1और स्लाइड देखें
    भास्कर न्यूज | चंडीगढ़/सोनीपत

    हरियाणा सरकार ने शुक्रवार को सरकारी नौकरी करने वाले खिलाड़ियों से कहा कि प्रोफेशनल खेलों और विज्ञापनों से होने वाली कमाई का 33% हिस्सा खेल परिषद को देना होगा। खेल विभाग के प्रिंसिपल सेक्रेटरी अशोक खेमका ने इस संबंध में सकुर्लर जारी किया। इस पर रेसलर योगेश्वर दत्त, बबीता फोगाट और सुशील कुमार जैसे खिलाड़ियों ने तेज विरोध किया। अंतत: देर शाम सीएम मनोहरलाल खट्‌टर ने ट्वीट कर फैसले को फिलहाल रोक दिया है। शेष पेज 9 पर

    इन दो पॉइंट्स पर कंट्रोवर्सी....

    कोई खिलाड़ी प्रदेश में सरकारी नौकरी करते हुए बिना वेतन के छुट्टी लेकर प्रोफेशनल खेल खेलता है या विज्ञापन करता है तो उसे कमाई का एक तिहाई या 33 फीसदी हिस्सा हरियाणा स्टेट स्पोर्ट्स काउंसिल को जमा कराना होगा।

    ये है फैसले की वजह

    बॉक्सर विजेंदर डीएसपी हैंं। उन्होंने प्रोफेशनल बॉक्सिंग में जाने से पहले छुट्टी मांगी थी। सरकार ने स्वीकृति में देरी की तो वे हाईकोर्ट चले गए। विवाद बढ़ने पर सरकार ने छुट्टी मंजूर कर दी। उसी समय हाईकोर्ट ने एक अन्य मामले में खिलाड़ियों के लिए दिशा-निर्देश जारी करने की हिदायत दी थी। इसलिए खेल विभाग ने शुक्रवार को निर्देश जारी किए।

    खिलाड़ी यदि अॉन ड्यूटी रहते हुए बिना विभागीय मंजूरी के प्रोफेशनल खेल खेलता है या विज्ञापन करता है तो उसे इनसे होने वाली पूरी कमाई हरियाणा स्टेट स्पोर्ट्स काउंसिल को देनी होगी।

    बबीता बोलीं-हम मेहनत से कमा रहे, इतना हिस्सा कैसे दें

    सीएम के बयान से पहले खेल मंत्री विज ने दी सफाई

    कोई कर्मचारी व्यवसायिक कार्य से कमाई करता है तो उसे एक तिहाई हिस्सा सरकारी खजाने में जमा करवाना पड़ता है। इस नियम से कोई भी अछूता कैसे रह सकता है। यह नियम अमेच्योर खिलाड़ियों पर लागू नहीं होगा। विपक्ष ने नियमों का पालन ही नहीं किया। नियम-56 पिछली सरकारों के कार्यकाल के दौरान ही बनाया गया था, जिसको उन्होंने कभी लागू नहीं किया था।

    ऐसे अफसर से राम बचाए, नए खिलाड़ी पलायन करेंगे

    योगेश्वर दत्त: ऐसे अफसर(अशोक खेमका) से राम बचाए। जब से खेल विभाग में आए हैं, तब से बिना सिर-पैर के तुगलकी फरमान जारी किए जा रहे हैं। अब हरियाणा के नए खिलाड़ी बाहर पलायन करेंगे और साहब आप जिम्मेदार होंगे।

    बबीता फोगाट: सरकार को अहसास नहीं है कि खिलाड़ी कितनी मेहनत करता है। वह कैसे एक तिहाई कमाई उन्हें दे सकता है। मैं इसका कतई समर्थन नहीं करती।

  • सुबह सर्कुलर आया-खिलाड़ियों को कमाई का 33% हिस्सा सरकार को देना होगा; दिनभर विरोध; शाम को फैसला होल्ड
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: सुबह सर्कुलर आया-खिलाड़ियों को कमाई का 33% हिस्सा सरकार को देना होगा; दिनभर विरोध; शाम को फैसला होल्ड
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×