--Advertisement--

291 सीटें बढ़ी, पर पिछले साल से 32317 छात्र कम चुने, टॉप-10 में चंडीगढ़ के 2

Dainik Bhaskar

Jun 11, 2018, 03:05 AM IST
291 सीटें बढ़ी, पर पिछले साल से 32317 छात्र कम चुने, टॉप-10 में चंडीगढ़ के 2

भास्कर न्यूज नेटवर्क | नई दिल्ली/कोटा

जेईई एडवांस्ड का रिजल्ट रविवार को घोषित कर दिया गया। इस साल आईआईटी में 291 सीटें बढ़ाने के बावजूद काउंसलिंग के लिए 18 हजार 138 स्टूडेंट्स को ही क्वालीफाई किया गया है। यानी सिर्फ 11.69 फीसदी। 2013 में शुरू हुए एडवांस्ड परीक्षा के बाद यह अब तक का सबसे कम सलेक्शन है। कुल 1 लाख 55 हजार 158 स्टूडेंट्स ने एडवांस्ड दिया था। टॉप 10 में चंडीगढ़ से दो स्टूडेंट हैं। चंडीगढ़ के प्रणव गोयल ने 360 में से 337 अंक हासिल करके ऑल इंडिया टॉप किया, जबकि नील आर्यन गुप्ता ने 10वां रैंक पाया। कुल 2076 लड़कियां चुनी गई हैं।


- भास्कर ने पहले ही बता दिया था टॉपर
1.5 लाख में से 18 हजार क्वालीफाई, यानी 11.69%

चंडीगढ़ के प्रणव टॉपर और नील दसवें स्थान पर

1st

प्रणव गोयल

337/360

6 साल पहले एडवांस शुरू, उसके बाद सबसे कम सलेक्शन

पिछले साल सबसे ज्यादा सलेक्शन

साल स्टूडेंट्स पासिंग%

2013 20834 13.88

2014 27151 21.00

2015 26456 22.56

2016 36566 24.37

2017 50455 31.06

2018 18138 11.69

जनरल की कटअॉफ 126, ज्यादा क्वालीफाई यहीं से

2nd

साहिल जैन

326/360

3rd

कलश गुप्ता

325/360

3 कारण, जिनकी वजह से कम रहा रिजल्ट

मुश्किल पेपर: न्यूमेरिकल वैल्यू के सवालों में स्पेसिफिक उत्तर के कारण स्टूडेंट्स को इन सवालों को हल करने में समय लग गया। कई स्टूडेंट्स पेपर पूरा नहीं कर सके।

ऑनलाइन एग्जाम: पहली बार ऑनलाइन एग्जाम हुए। कई स्टूडेंट्स कंप्यूटर फ्रेंडली नहीं थे। उनका टाइम मैनेजमेंट बिगड़ा। निर्देश भी सही तरीके से फाॅलो नहीं कर सके।

कैटेगरी क्वालीफाई कटऑफ

जनरल 8794 126

ओबीसी 3140 114

एससी 4709 63

एसटी 1495 63

10th

नील आर्यन गुप्ता

310/360

लड़कियों में टॉपर

मीनल पारख

318/360

कट ऑफ और बोनस: आईआईटी ने कटअॉफ घोषित कर दी थी। उससे समझौता नहीं किया। पिछले साल 18 बोनस अंक मिले थे। इस साल बोनस नहीं दिया। 2015 में कटऑफ 24.5% व 2016 में 20% किया गया था।


X
291 सीटें बढ़ी, पर पिछले साल से 32317 छात्र कम चुने, टॉप-10 में चंडीगढ़ के 2
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..