Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» आईएएस अफसर ने एसीएस पर लगाया यौन शोषण का आरोप, जान को भी खतरा बताया

आईएएस अफसर ने एसीएस पर लगाया यौन शोषण का आरोप, जान को भी खतरा बताया

भास्कर न्यूज | चंडीगढ़/रोहतक/पानीपत/फतेहाबाद पशुपालन एवं डेयरी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव (एसीएस) सुनील कुमार...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 11, 2018, 03:05 AM IST

भास्कर न्यूज | चंडीगढ़/रोहतक/पानीपत/फतेहाबाद

पशुपालन एवं डेयरी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव (एसीएस) सुनील कुमार गुलाटी पर उनके ही विभाग में तैनात महिला आईएएस ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। उन्होंने अपनी जान को भी खतरा बताया है। इस संबंध में राष्ट्रपति और केंद्र सरकार की ई-मेल पर शिकायत भेजी है और डीजीपी से भी सुरक्षा की मांग की है। इसका खुलासा उन्होंने अपनी फेसबुक पोस्ट में किया है। 1984 बैच के आईएएस अधिकारी सुनील गुलाटी ने आरोपों को निराधार बताया है। उधर, महिला आयोग की चेयरपर्सन प्रतिभा सुमन का कहना है कि मामले की जांच कराई जाएगी। शेष पेज 5 पर

फेसबुक पर डाली पोस्ट

नमस्कार।

मैं आप सभी को मेरे हो रहे यौन शोषण के बारे में सूचित करना चाहती हूं। मैंने दिनांक 9 मई 2018 से पशुपालन विभाग, हरियाणा सरकार, चंडीगढ़ में कार्यभार ग्रहण किया था। विभाग में मेरे उच्च अधिकारी सुनील कुमार गुलाटी, आईएएस, अतिरिक्त मुख्य सचिव, पशुपालन विभाग, हरियाणा सरकार हैं। सुनील गुलाटी एवं इनके साथियों द्वारा मेरा यौन शोषण किया जा रहा है। मैं आपके साथ कुछ पत्र साझा कर रही हूं, जो राष्ट्रपति कार्यालय और भारत सरकार की ई-मेल पर भेजे हैं।

सुनील गुलाटी ने 22 मई दोपहर को मुझे अपने कार्यालय के कमरे में बुलाया और पूछा कि तुम्हारा मोबाइल कहां है। मोबाइल मेरे बैग में था। सुनील गुलाटी ने मुझे धमकाया और कहा- देखो मैं तुम्हें समझा रहा हूं। एक बार में समझ जाओगी तो तुम्हारे लिए अच्छा होगा। तुम फाइलों पर ये सब क्यों साफ-साफ लिखती हो। कि विभाग ने क्या-क्या गलत किया है। शेष पेज 5 पर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Chandigarh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: आईएएस अफसर ने एसीएस पर लगाया यौन शोषण का आरोप, जान को भी खतरा बताया
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×