--Advertisement--

6 मई तक चंडीगढ़ में शाम को पानी की सप्लाई लो प्रेशर से

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:10 AM IST

News - पंजाब इरिगेशन डिपार्टमेंट की ओर से भाखड़ा मेन नहर में 22 अप्रैल से रिपेयर वर्क करवाया जा रहा है। इसके कारण भाखड़ा...

6 मई तक चंडीगढ़ में शाम को पानी की सप्लाई लो प्रेशर से
पंजाब इरिगेशन डिपार्टमेंट की ओर से भाखड़ा मेन नहर में 22 अप्रैल से रिपेयर वर्क करवाया जा रहा है। इसके कारण भाखड़ा में कजौली हेड पर बने इनटेक से पानी का लेवल नीचे चला गया है। इसके कारण रोजाना शहर को 20 एमजीडी पानी कम मिल रहा है। रिपेयर वर्क पहले 26 अप्रैल तक चलना था लेकिन अब इसे बढ़ाकर 6 मई तक कर दिया गया है। यानि 6 मई तक शहरवासियों को सुबह 4 बजे से 8.30 बजे तक पानी की सप्लाई प्रेशर से होगी जबकि शाम 6 बजे से रात 9 बजे तक पानी सप्लाई लो प्रेशर से होगी। सुबह की सप्लाई आधा घंटा और शाम की एक घंटा कम भी कर दी गई है। शहरवासियों को 22 अप्रैल से ही पानी शाम के समय लो प्रेशर से मिल रहा है। वहीं सुबह के समय कई सेक्टर 20, 29, 30, 32, 33, 34, 35, 37, 38, 40, 41 से 56 तक पानी की सप्लाई लो प्रेशर से हो रही है। वहीं एमसी की ओर से रोजाना 60 से 70 वाॅटर टैंकर इन एरिया में पानी के भेजे जा रहे हैं।

भाखड़ा नहर से 20-20 एमजीडी की चार लाइन से शहर में 80 एमजीडी पानी पहुंचता है। इसमें से मोहाली को 10 एमजीडी और पंचकूला व चंडीमंदिर को 6-6 एमजीडी उनका शेयर देने के बाद शहर में 58 एमजीडी (2610 लाख लीटर) पानी रहता है। पिछले दो दिन से शहर में भाखड़ा नहर का 38 एमजीडी (1710 लाख लीटर) ही पानी मिल रहा है। 254 ट्यूबवैल से 25 एमजीडी (1125 लाख लीटर) भी शहर की सप्लाई के लिए है। अगले तीन दिन तक भाखड़ा और ट्यूबवैल के 2835 लाख लीटर पानी (900 लाख लीटर कम) ही सप्लाई होगा। इसके कारण शहरवासियों को लो प्रेशर से पानी की सप्लाई होगी।

सेक्टर-25 कॉलोनी में गंदा पानी हो रहा सप्लाई

सेक्टर-25 की कुम्हार एवं जनता कॉलोनी में हाउस नंबर 3300 से 3400 तक की लाइन में बदबूदार पानी की सप्लाई होने से लोग बीमार हो रहे हैं। लोगों का कहना है कि एक महीने से एमसी को शिकायत कर रहे हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। हाउस नंबर 3308 निवासी धर्मपाल नैनवाल, 3329 निवासी शाम लाल और 3406 निवासी रामकुमारी ने बताया कि पानी सप्लाई सुबह और शाम को एक घंटा होती है, पानी बदबूदार आता है। इसे पीया नहीं जाता है।

शहर की वाॅटर सप्लाई, सीवर और स्टॉर्म वाॅटर लाइन की होगी जीआईएस मैपिंग

चंडीगढ़| शहर की पूरी प्रॉपर्टी की जीआईएस मैपिंग होने जा रहा है। लिडार सर्वे हो चुका है। रिपोर्ट आते ही ऑनलाइन हो जाएगा। वहीं नगर निगम शहर की वाॅटर सप्लाई , स्टॉर्म और सीवर लाइन की जियोग्राफिक इन्फॉर्मेशन सिस्टम (जीआईएस) मैपिंग करवाने लगा है। इसे चंडीगढ़ स्मार्ट सिटी की कंसल्टेंट कंपनी एजिस द्वारा किया जा रहा है। कंपनी ने मनीमाजरा की स्टॉर्म, सीवर और वाॅटर लाइन की जीआईएस मैपिंग कर दी है। अब शहर की वाॅटर सप्लाई, सीवर और स्टॉर्म वाॅटर लाइन की जीआईएस मैपिंग पर काम किया जा रहा है। वाॅटर सप्लाई लाइन और सीवर लाइन की जीआईएस मैपिंग का फायदा ये होगा कि कहीं पर अगर लाइन में फॉल्ट आएगा तो उस जगह का फौरन जीआईएस सिस्टम से पता चल सकेगा। लाइन के फॉल्ट को ठीक करना मुश्किल नहीं होगा। अभी एमसी के पास सीवर, स्टॉर्म और वाॅटर सप्लाई लाइन के बारे जानकारी नहीं है। कौन सी लाइन कहां से बिछी हुई है ये पता नहीं है। इसके जीआईएस मैपिंग पर आने से लाइनों की जानकारी अफसरों को होगी। फॉल्ट आते ही लाइन को रिपेयर करवाया जा सकेगा। अभी लाइनों में फॉल्ट आता है तो उसे मैनुअली चेक करके पता लगाया जाता है कि कहां से लाइन बिछी हुई है।

X
6 मई तक चंडीगढ़ में शाम को पानी की सप्लाई लो प्रेशर से
Astrology

Recommended

Click to listen..