चंडीगढ़ समाचार

--Advertisement--

सफर होगा महंगा, पीआरटीसी बढ़ाएगी बस का किराया

पंजाब में बस पर सफर करना अब और भी महंगा हो जाएगा। डेढ़ महीना पहले ही बस किराए में दो पैसे प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:10 AM IST
पंजाब में बस पर सफर करना अब और भी महंगा हो जाएगा। डेढ़ महीना पहले ही बस किराए में दो पैसे प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी के बाद अब फिर से पीआरटीसी 2 पैसे प्रति किलोमीटर किराए को बढ़ाने का प्रस्ताव लाई है। बस किराए को बढ़ाने के पीछे हर रोज बढ़ रहे डीजल के रेट और अन्य खर्चों को आधार बनाया गया है। फिलहाल इस समय बस का किराया 1 रुपए 4 पैसे प्रति किलोमीटर है, जो किराए बढ़ने के बाद 1 रुपए 6 पैसे प्रति किलोमीटर हो जाएगा। पीआरटीसी ने बस किराया बढ़ाने के पीछे डीजल के अलावा वेतन व पेंशन के खर्च में होने वाली वृद्धि को आधार बनाया है। पीआरटीसी की बसों में रोज 52 लाख रुपए के डीजल की खपत होती है, जो पहले 45 लाख रुपए थी। इसके अलावा पीआरटीसी का मानना है कि रेगुलर व कांट्रेक्ट स्टाफ का वेतन भी 8 करोड़ से बढ़कर 9 करोड़ हो गया है। पेंशन भी 6.5 करोड़ से बढ़कर 7.5 करोड़ हो गई है। इसके चलते पीआरटीसी पर बढ़ रहे खर्च को देखते हुए किराए बढ़ाने की जरूरत है।

अभी किराया 1 रुपए 4 पैसे प्रति किलोमीटर

किराए बढ़ने पर हो जाएगा 1 रुपए 6 पैसे प्रति किमी.


डीजल के रेट बढ़े, वेतन और पेंशन में एक लाख की वृद्धि

1 हजार से ज्यादा निकलते हैं रूट

बठिंडा डिपो से हर रोज विभिन्न रूटों पर चलने वाली बसों के 1 हजार से ज्यादा टाइम हैं, जिनमें हर रोज एवरेज 30 हजार से ज्यादा लोग सफर करते हैं। अगर इनमें तीसरे हिस्से यानी 10 हजार लोगों को भी 5 रुपए अतिरिक्त देने पड़े तो उन पर 50 हजार रुपए का बोझ बढ़ जाएगा।

कांग्रेस सरकार में तीसरी बार किराया बढ़ाने की तैयारी

पंजाब में सत्ता संभालने के बाद 13 महीनों में ही कांग्रेस तीसरी बार बस किराए बढ़ाने का प्रस्ताव पेश कर रही है। इससे पहले 16 फरवरी को दो पैसे प्रति किलोमीटर किराए में बढ़ोतरी की गई थी। वहीं, कांग्रेस ने सत्ता में आने के तीन महीनों बाद ही 1 जून को 3 से 6 पैसे प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी की थी। जबकि इससे भी पहले पिछली अकाली सरकार ने 4 जनवरी 2017 को पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए कोड ऑफ कंडक्ट लगने से कुछ दिन पहले ही किराए में इतनी ही बढ़ोतरी की थी।

इतना हो जाएगा किराया

रूट अब तक बढ़ने के बाद

बठिंडा-चंडीगढ़ 260 265

लुधियाना 165 170

जालंधर 195 200

मुक्तसर 55 60

फरीदकोट 60 65

पटियाला 185 190

जबकि मलोट, अबोहर, डबवाली का किराया भी 5-5 रुपए बढ़ जाएगा। इसको लेकर कपिल कुमार का कहना है कि वह हर रोज अबोहर से बठिंडा आता जाता है। मगर बस किराए बढ़ने से उनके वेतन का काफी हिस्सा बस किराए में ही चला जाता है।

X
Click to listen..