--Advertisement--

फोन कर पूछा ओटीपी, फिर ईएमआई कार्ड के जरिए कर ली 50 हजार रुपए की शॉपिंग

फोन कर पहले झासां दिया और फिर एक व्यक्ति के ईएमआई कार्ड के जरिए 2 बार में 50 हजार 970 रुपए की ऑनलाइन शॉपिंग कर ली। अपने...

Danik Bhaskar | Jun 10, 2018, 03:10 AM IST
फोन कर पहले झासां दिया और फिर एक व्यक्ति के ईएमआई कार्ड के जरिए 2 बार में 50 हजार 970 रुपए की ऑनलाइन शॉपिंग कर ली। अपने साथ हुई ठगी का पता लगने पर शिकायत पुलिस को दी गई। जिस पर साइबर सेल ने जांच शुरू कर दी है। अभी मामले में कोई एफआईआर रजिस्टर नहीं की है। बताया गया कि सेक्टर-43 के रहने वाले अश्वनी कुमार वशिष्ठ सीटीयू में बतौर इलेक्ट्रिशियन तैनात हैं। अश्वनी का एसबीआई बैंक में अकाउंट है और उन्हें बजाज की तरफ से एक ईएमआई कार्ड दिया गया है जिससे वह शॉपिंग कर सकते हैं। उन्हें कुछ बेनीफिट मिलते हैं। अश्वनी को कुछ समय से फोन कॉल्स आ रहे थे और कॉलर खुद को बजाज के कारिंदे बता रहे थे। घटना 22 मार्च की है जब अश्वनी को फोन आया और झांसा देकर कहा कि उनके फोन पर एक मैसेज आएगा उसका नंबर बता दें। इस तरह कॉलर ने 2 बार उनसे ओटीपी नंबर मांग कर 16 हजार 990 रुपए और 33 हजार 980 रुपए की शॉपिंग कर ली।

रुपए निकलने का मैसेज आया तो पता चला ठगी हो गई

साइबर क्राइम...

साइबर सेल करेगा जांच

शॉपिंग करने के बाद फिर से ओटीपी नंबर मांगा तो अश्वनी ने देखा कि उनके फोन पर रुपए विदड्रॉ होने के 2 मैसेज आए हैं। जिनसे शॉपिंग की गई है। उन्होंने तुरंत फोन काटा। अगले दिन जाकर उन्होंने अपना बैंक अकाउंट सीज करवाया और साथ ही बजाज में भी जाकर बात की। इसके बाद उन्होंने पुलिस हेड क्वार्टर में मामले की शिकायत दी। जिसके बाद जांच का जिम्मा साइबर सेल को सौंपा गया है।