Hindi News »Union Territory »Chandigarh »News» एक्सईएन ने चीफ इंजी. को कहा रिश्वतखोर, जान का खतरा बताया, मिली पुलिस सुरक्षा

एक्सईएन ने चीफ इंजी. को कहा रिश्वतखोर, जान का खतरा बताया, मिली पुलिस सुरक्षा

संजीव महाजन/गौरव भाटिया | चंडीगढ़ सीएचबी में एक्सईएन कैलाश गर्ग ने अपने ही चीफ इंजीनियर राजीव सिंगला पर करप्शन के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 14, 2018, 03:10 AM IST

  • एक्सईएन ने चीफ इंजी. को कहा रिश्वतखोर, जान का खतरा बताया, मिली पुलिस सुरक्षा
    +2और स्लाइड देखें
    संजीव महाजन/गौरव भाटिया | चंडीगढ़

    सीएचबी में एक्सईएन कैलाश गर्ग ने अपने ही चीफ इंजीनियर राजीव सिंगला पर करप्शन के आरोप लगाए हैं। एक्सईएन ने सीएचबी के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर हरीश नैयर को 8 पेज की शिकायत भेजकर बताया कि चीफ इंजीनियर ने कहां से और कैसे घपला किया। एक लेटर चंडीगढ़ पुलिस के एसएसपी को भी दिया। कहा कि सुरक्षा दी जाए, क्योंकि उन्हें चीफ इंजीनियर से जान का खतरा है। यूटी पुलिस अब कैलाश गर्ग को सिक्योरिटी दे रही है। सिक्योरिटी ऑफिस टाइम में ही मिलेगी, क्योंकि एक्सईएन ने अॉफिस टाइम में ही जान का खतरा बताया है। यूटी प्रशासन में ऐसा पहली बार हो रहा है कि बॉस से उसके जूनियर को खतरा है और बॉस से बचने के लिए पुलिस तैनात की जा रही है। एक्सईएन कैलाश गर्ग ने बताया कि पुलिस डिपार्टमेंट ने उन्हें फोन कर कहा है कि सिक्योरिटी अलॉट हो गई है। सोमवार तक वे छुट्टी पर हैं और सोमवार से उन्हें उनके दफ्तर में सिक्योरिटी दी जाएगी।

    अॉफिस टाइम में ही मिलेगी सिक्योरिटी, कहा था-ऑफिस में ही खतरा

    कैलाश गर्ग

    अपने बॉस से कैलाश गर्ग को खतरा

    एक ही ब्रांड का सामान लगा दिया

    लेटर में लिखा कि अगर पीवीसी टैंक लगाने थे तो सिंगला ने सिंटेक्स कंपनी के ही टैंक लगा दिए। किसी दूसरी कंपनी को बुलाया तक नहीं गया। इसी तरह जीआई पाइप के लिए सिर्फ टाटा कंपनी की पाइप लगा दी गई। सिंटेक्स की 500 लीटर की टंकी 3 हजार रुपए और टाटा की 20 फुट की जीआई पाइप 3 हजार रुपए की कीमत पर मार्केट से मिलती है। सिंगला ने एमआरटीपी एक्ट और कंपीटिशन कमीशन ऑफ इंडिया की गाइडलाइंस को पूरी तरह से दरकिनार किया।

    शिकायत मिली है। मैं जांच करवाऊंगा कि आरोपों में कितनी सच्चाई है। अगर आरोप सही हुए तो सिंगला के खिलाफ एक्शन होगा।

    -हरीश नैयर, चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर

    ऑफिस में दोनों के कमरे में 20 फुट का फासला...

    एक्सीडेंट करवाकर मुझे मरवा सकते हैं

    लेटर में कैलाश गर्ग ने लिखा कि सिंगला का उनके प्रति एटीट्यूड काफी भेदभाव वाला रहा है। मेरी 28 साल की सर्विस का रिकॉर्ड बेहतरीन रहा है लेकिन 2016-17 में मुझे सिंगला ने एवरेज से नीचे के ग्रेड दिए। एक्सईएन ने आरोप लगाए कि सिंगला ने जो गलत तरीके से पैसा कमाया, उसे अपने भाई के टैक्सी बिजनेस में लगाया। उसकी इस समय 200 टैक्सियां चलती हैं। मुझे लगता है कि सिंगला मुझे एक्सीडेंट के जरिए जान से मरवा सकते हैं।

    जो आरोप कैलाश गर्ग ने लगाए हैं वे बेबुनियाद हैं। न जाने ऐसे आरोप क्यों लगा रहा है। मैं ईमानदार हूं और अपना काम पूरी मेहनत से करता हूं।

    -राजीव सिंगला, चीफ इंजीनियर, सीएचबी

    ये लगाए आरोप

    सेक्टर-51 के मकानों में धांधली... कैलाश ने शिकायत में लिखा कि जब सिंगला एक्सईएन से सुपरिंटेंडिंग इंजीनियर बने, तब उन्हें लगा कि उनका पब्लिक हेल्थ डिविजन से कंट्रोल खत्म हो रहा है और जो मेनुफेक्चरर से सेटिंग है, उसका असर इस पर पड़ेगा। इस पर उन्होंने बिना एक्सप्रेशन ऑफ इंट्रेस्ट के एक ब्रांड खुद ही जोड़ लिया। जीआई फिटिंग्स के एनवीआर ब्रांड को जोड़ा। मार्केट में सैकड़ों बेहतरीन ब्रांड हैं लेकिन एनवीआर कंपनी की फिटिंग्स को ही सेक्टर-51 के 200 टू बेडरूम फ्लैट्स में लगाया।

    एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट नहीं मंगवाया: सिंगला ने कावेरी ब्रांड के पीवीएस टैंक बोर्ड रिकमेंड लगवाए, लेकिन एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट मंगवाया ही नहीं। अब जांच में ही पता लगेगा कि सिंगला ने जो रिकमेंडेशन की उसकी एवज में उन्हें कितने पैसे मिले।

    सेक्टर-49 में घटिया क्वालिटी की पाइप लगाई : सिंगला ने सेक्टर-49 के घरों में घटिया क्वालिटी की पाइपें लगाईं। उन्होंने टाटा कंपनी की वह जीआई पाइप लगाई जो खुद टाटा ने रिजेक्ट कर दी थीं, क्योंकि वह सेकेंड क्वालिटी की थी।

    डमी ब्रांड को भी जोड़ दिया: सिंगला ने बोर्ड की द्वारा अप्रूव की गई पब्लिक हेल्थ की आइटम्स में "एवीआर' और "आर' ब्रांड को जुड़वा दिया। आर ब्रांड एक डमी कंपनी है और यह लिस्ट में इसलिए जोड़ी गई, ताकि एवीआर कंपनी की फिटिंग लग सकें।

  • एक्सईएन ने चीफ इंजी. को कहा रिश्वतखोर, जान का खतरा बताया, मिली पुलिस सुरक्षा
    +2और स्लाइड देखें
  • एक्सईएन ने चीफ इंजी. को कहा रिश्वतखोर, जान का खतरा बताया, मिली पुलिस सुरक्षा
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×