• Home
  • Union Territory News
  • Chandigarh News
  • News
  • पीयू एग्जामिनेशन में सबसे ज्यादा कमाई बीए-बीएससी से, इस बार एक करोड़ से ज्यादा का टारगेट
--Advertisement--

पीयू एग्जामिनेशन में सबसे ज्यादा कमाई बीए-बीएससी से, इस बार एक करोड़ से ज्यादा का टारगेट

पीयू में सबसे ज्यादा कमाई एग्जामिनेशन से है। लेकिन इसमें भी सर्वाधिक कमाई वाले कोर्स हैं बीए और बीएससी कोर्सेज।...

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 03:20 AM IST
पीयू में सबसे ज्यादा कमाई एग्जामिनेशन से है। लेकिन इसमें भी सर्वाधिक कमाई वाले कोर्स हैं बीए और बीएससी कोर्सेज। पिछले साल यूनिवर्सिटी को इससे 68 करोड़ रुपए की कमाई हुई और इस बार ये टारगेट 70 करोड़ 50 लाख रुपए का रखा गया है। एमए व एमएससी, कॉमर्स और कंप्यूटर साइंस एंड एप्लीकेशन कोर्सेज कमाई के मामले में बीए व बीएससी के बाद हैं। इस बार करीब 158 करोड़ रुपए की कमाई का टारगेट एग्जामिनेशन से रखा गया है। बता दें कि यूनिवर्सिटी की सबसे ज्यादा इनकम एग्जामिनेशन से ही आती है। सबसे कम कमाई एग्जामिनेशन लाइब्रेरी साइंस, मास कम्युनिकेशन, फॉर्मेसी और मेडिकल से है। डेंटल इंस्टीट्यूट, एमबीबीएस व एमडी आदि कोर्सेज की कुल कमाई एक करोड़ रुपए के आसपास है। बीए और बीएससी के सभी कोर्सेज से 2016-17 में पीयू ने 63 करोड़ रुपए कमाए। 2017-18 में ये रकम 66 करोड़, 2018-19 में लगभग 68 करोड़ रुपए रही। एमए और एमएससी कोर्सेज में ये इनकम 2016-17 में 37 करोड़ रुपए की कमाई हुई, 2017-18 में 45 और अब 46 करोड़ रुपए का टारगेट यूनिवर्सिटी ने रखा है। एजुकेशन कॉलेजों की एग्जामिनेशन फीस भी एक बड़ा कमाई का जरिया है। 2016 में 5.7 करोड़ रुपए की इनकम हुई जो 2017-18 में 6.5 करोड़ रुपए रही। इंजीनियरिंग से ये कमाई 2016-17 में 1.5 करोड़ रुपए रही, और अगले साल 1.9 करोड़ रुपए।

80 लाख से रिपेयर होंगे स्टूडेंट्स होम... पीयू इस बार सभी स्टूडेंट्स होम की रिपेयर कराने की योजना बना रही है। इस पर करीब 80 लाख रुपए खर्च होंगे। पीयू का डलहौजी वाला रेस्ट हाउस कम स्टूडेंट होम और अमृतसर व करनाल में स्टूडेंट होम को रिपेयर किया जाएगा। ये सभी प्रॉपर्टीज बहुत बुरी हालत में हैं। डलहौजी वाली प्रॉपर्टी के लिए न सिर्फ स्टूडेंट संगठन कई बार लिख चुके हैं बल्कि ये मुद्दा सीनेट में भी उठ चुका है। यहां पर रिपेयर का काम पहले से ही चल रहा है।