--Advertisement--

आईएएस अफसर अशोक खेमका ने अपना एफिडेविट वापस लिया

हरियाणा खेल विभाग के प्रधान सचिव अशोक खेमका द्वारा जगमिंदर सिंह को भारतीय महिला हैंडबॉल टीम के चीफ कोच के तौर पर...

Danik Bhaskar | May 17, 2018, 04:05 AM IST
हरियाणा खेल विभाग के प्रधान सचिव अशोक खेमका द्वारा जगमिंदर सिंह को भारतीय महिला हैंडबॉल टीम के चीफ कोच के तौर पर ज्वाइन करने से रोकने के आदेशों के मामले में दायर एफिडेविट बुधवार को वापस ले लिया गया। खेमका ने अपना पक्ष रखने के लिए प्राईवेट वकील की सेवाएं ली थी।

इस बारे में एजी ऑफिस को कोई जानकारी तक नहीं थी। इस पर हाईकोर्ट ने कहा कि एक सरकारी अधिकारी से इस तरह की उम्मीद नहीं की जा सकती। कोर्ट ने इस पर जवाब मांगा था। जगमिंदर ने याचिका दाखिल करते हुए कहा था उसने 1983 में विभाग में कोच के तौर पर ज्वाइन किया था और मई 2017 में वह डिप्टी डायरेक्टर के तौर पर रिटायर हो गए थे। विभाग ने उन्हें इसके बाद री एम्प्लॉयमेंट दी। हाल ही में हैंडबॉल फैडरेशन ऑफ इंडिया ने उन्हें भारतीय महिला हैंडबॉल टीम का चीफ कोच डेजिगनेटेड किया था। याची ने कहा कि 31 मार्च से साउथ एशियन वूमन हैंडबॉल चैपिंयनशिप होने जा रही है और इसके बाद अगस्त में एशियन गेम्स होने हैं।

भारत को रिप्रेजेंट करने वाली टीम में पांच खिलाड़ी हैं जिनमें से चार को उन्होंने खुद ट्रेंड किया है जो हरियाणा से हैं। याची ने मार्च में हरियाणा सरकार से कहा कि उसे कोचिंग कैंप में हिस्सा लेने दिया जाए। साथ ही लैटर भी दिखाया गया जिसमें साफ था कि पूरा खर्चा फेडरेशन वहन करेगी। प्रधान सचिव ने इसे नामंजूर करते हुए उन्हें अनफिट करार दे दिया।