--Advertisement--

35 लाख से एमसी खरीदेगा 5 थर्मल इमेजिंग कैमरा, धुएं में भी आग बुझाना हाेगा आसान

नगर निगम पांच थर्मल इमेजिंग कैमरे 35 लाख रुपए में खरीदेगा। इनके फायर एंड इमरजेंसी सर्विस में आने से आग लगने पर धुएं...

Dainik Bhaskar

Jun 11, 2018, 04:05 AM IST
नगर निगम पांच थर्मल इमेजिंग कैमरे 35 लाख रुपए में खरीदेगा। इनके फायर एंड इमरजेंसी सर्विस में आने से आग लगने पर धुएं में भी उस पॉइंट तक पहुंच सकेंगे जहां से आग लगी है। पॉइंट के पकड़ में आने से आग को समय रहते कंट्रोल किया जा सकेगा। इसका एजेंडा अप्रूवल के लिए अगले वीक होने वाली फाइनेंस एंड कॉन्ट्रैक्ट कमेटी (एफएंडसीसी) में अप्रूवल के लिए आ रहा है। इनकी खरीद होने पर एमसी के फायर विंग के पास थर्मल इमेजिंग कैमरों की संख्या सात हो जाएगी। अभी दो थर्मल इमेजिंग कैमरा हैं। इससे काम करना सभी सात फायर स्टेशन के स्टाफ के लिए मुश्किल काम है। एमसी की अोर से आठ साल पहले थर्मल इमेजिंग कैमरा खरीदने का प्रपोजल बनाया गया था। लेकिन इसका एजेंडा किसी न किसी ऑब्जेक्शन के चलते लटकता गया। एमसी के फायर विंग में थर्मल इमेजिंग कैमरा नहीं होने की वजह से धुएं में फायर कर्मचारियों को आग लगने के पॉइंट को ढूंढने में दिक्कत आती है। इसी के कारण आग बुझाने में समय लगता है। इसी को देखते हुए एमसी ने अब पांच थर्मल इमेजिंग कैमरा 35 लाख से खरीदने का एजेंडा तैयार किया है।

शहर में सात फायर स्टेशन: शहर में 7 फायर स्टेशन (सेक्टर11, 17, 32, 38, इंडस्ट्रियल एरिया फेज वन, टू और मनीमाजरा) हैं। इनमें से दो फायर स्टेशन पर ही दो थर्मल इमेजिंग कैमरे हैं। अब पांच थर्मल इमेजिंग कैमरा आने से सभी 7 फायर स्टेशन भी इससे लैस हो जाएंगे। ऐसे में आगजनी होने से थर्मल इमेजिंग कैमरा को लेकर दूसरे फायर स्टेशन के स्टाफ को पहले से मैसेज करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।


सेक्टर-16 और 19 के कम्युनिटी सेंटर को गेस्ट हाउस बनाने की तैयारी


चंडीगढ़| एमसी से-16 के रोज क्लब और से-19 के कम्युनिटी सेंटर को गेस्ट हाउस में तबदील करने जा रहा है। हाॅल में ही एग्जीबिशन लगेंगी और कमरे रेंट आउट होंगे। इनसे एमसी पैसा कमाएगा। इस संबंधी एजेंडा इस माह होने वाली फाइनेंस एंड कॉन्ट्रैक्ट कमेटी की मीटिंग में आ रहा है। वह भी मेयर देवेश मोदगिल की ओर से लाया जा रहा है। अभी इन दोनों कम्युनिटी सेंटर में शादी-विवाह और अन्य फंक्शन नहीं हो रहे हैं क्योंकि डीसी ऑफिस की ओर से डीजी की परमिशन नहीं मिलती है। इसलिए लोग इन्हें शादी- विवाह के लिए बुक नहीं करवाते हैं। इन दोनों कम्युनिटी सेंटर में डीजे की परमिशन नहीं दिए जाने से लोगों द्वारा बुकिंग नहीं करवाने का मामला निगम हाउस में भी उठ चुका है।

एमसी अपनी फाइनेंशियल पोजिशन को सुधारने के लिए कई प्रपोजल पर काम कर रहा है। इसी का हिस्सा सेक्टर-16 और 19 के कम्युनिटी सेंटर भी हैं। इन दोनों कम्युनिटी सेंटर को एमसी की ओर से करोड़ों रुपए खर्च करके बनाया गया था ताकि आसपास के एरिया के लोग उनमें शादी-विवाह और अन्य फंक्शन करवा सकें। कई साल से सेक्टर-16 के रोज क्लब नामक कम्युनिटी सेंटर को लोग किसी फंक्शन के लिए बुकिंग नहीं करवा रहे हैं। इस कम्युनिटी सेंटर का ई-संपर्क सेंटर में भी नाम है। इसकी ई-संपर्क पर बुकिंग तो हो जाती है लेकिन डीसी ऑफिस से डीजे चलाने की परमिशन नहीं दी जाती है। इसकी वजह से लोग इस कम्युनिटी सेंटर की बुकिंग नहीं करवा रहे हैं।

दो करोड़ से हुई थी रेनोवेशन

सेक्टर 19 का कम्युनिटी सेंटर को तब के एरिया काउंसलर रहे मुकेश बस्सी ने 2015 में दो करोड़ रुपए से रेनोवेशन और अपग्रेडेशन करवाई। इसके बाद भी लोग इस कम्युनिटी सेंटर को बुक नहीं करवा रहे हैं। कारण उन्हें शादी-विवाह के लिए डीजे चलाने की डीसी ऑफिस की ओर से परमिशन नहीं दी जा रही है। क्योंकि वहां वीवीआईपी एरिया है। डीजे की ऊंची आवाज से वीवीआईपी डिस्टर्ब होते हैं। वीवीआईपी एरिया की वजह से सेक्टर-16 और 19 का कम्युनिटी सेंटर कोई भी बुक नहीं करवा रहा है।

हॉल में एग्जीबिशन होंगी

इन दोनों सेक्टर के कम्युनिटी सेंटर को गेस्ट हाउस में बदलेंगे। गेस्ट हाउस में रूम की बुकिंग तो होगी और हाॅल एग्जीबिशन एरिया में कन्वर्ट होंगे। इनसे भी निगम महीने की बुकिंग करके पैसा कमाएगा। इसका एजेंडा खुद मेयर देवेश मोदगिल ने एफएंडसीसी की मीटिंग के लिए निगम कमिश्नर केके यादव को कहकर तैयार करवाया गया है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..