चंडीगढ़ समाचार

--Advertisement--

सिंगल टेंडर अप्रूव हुआ तो कजौली में इनटेक चैंबर जल्द बनने लगेगा

भाखड़ा मेन नहर के फेज 5-6 इनटेक का चैंबर बनाने वाली सिंगल कंपनी का टेंडर सेक्रेटरी इरिगेशन जसपाल सिंह ने अप्रूव कर...

Danik Bhaskar

Jun 11, 2018, 04:10 AM IST
भाखड़ा मेन नहर के फेज 5-6 इनटेक का चैंबर बनाने वाली सिंगल कंपनी का टेंडर सेक्रेटरी इरिगेशन जसपाल सिंह ने अप्रूव कर दिया तो काम जल्द शुरू हो जाएगा। अगर सिंगल टेंडर को रिजेक्ट कर दिया तो वाॅटर रिसोर्स डिपार्टमेंट की पटियाला डिविजन के एक्सईएन को दोबारा से काल करना पड़ेगा। ऐसे में कजौली से फेज 5-6 की लाइन से शहर में 29 एमजीडी (1305 लाख लीटर) अतिरिक्त पानी अगस्त महीने में आ सकेगा। पंजाब वाॅटर रिसोर्स डिपार्टमेंट की पटियाला डिविजन की ओर से भाखड़ा मेन लाइन के फेज 5-6 की लाइन के इनटेक का चैंबर बनाने के लिए 75.50 लाख का टेंडर लगाया था। टेंडर की टेक्निकल बिड 4 जून को खोली गई है। इसमें सिंगल कंपनी आई। इसके अगले दिन फाइनेंशियल बिड खोली। उसी दिन एक्सईएन भाखड़ा मेन लाइन पटियाला की ओर से सिंगल टेंडर को अप्रूव के लिए फाइल चीफ इंजीनियर इरिगेशन जगमोहन सिंह मान के पास चंडीगढ़ ऑफिस भेजी। इस फाइल को चीफ इंजीनियर जगमोहन सिंह मान ने अप्रूवल के लिए सेक्रेटरी इरिगेशन जसपाल सिंह के पास भेज दिया। सिंगल टेंडर का मामला है इसे अप्रूवल करने के लिए सेक्रेटरी इरिगेशन के पास फाइल भेजी जाती है। इसके लिए सेक्रेटरी इरिगेशन ही ऑथोराइज है। अब पंजाब के सेक्रेटरी इरिगेशन पर निर्भर करता है कि कजौली में भाखड़ा मेन लाइन के फेज 5-6 इनटेक का चैंबर बनाने वाली सिंगल कंपनी को अप्रूव करते हैं या नहीं। इमरजेंसी वर्क है। अगर सिंगल टेंडर कंपनी की अप्रूवल होती है तो कंपनी चैंबर बनाने का काम एक वीक में शुरू कर देगी। अगर सेक्रेटरी इरिगेशन ने पहली बार आए सिंगल टेंडर को अप्रूवल नहीं किया। ऐसे में भाखड़ा मेन लाइन पटियाला डिविजन के एक्सईएन को दोबारा से फेज 5-6 लाइन के चैंबर बनाने का टेंडर काल करना पड़ेगा। इससे शहर में अतिरिक्त 1305 लाख लीटर पानी लाने का काम अगस्त पर जा पहुंचेगा। क्योंकि टेंडर जून माह के अंत तक खुलेगा। इसके बाद टेंडर अलॉट होगा। चैंबर वर्क को करवाने पर 45 दिन लगेंगे। ऐसे में शहर में अगस्त माह में ही फेज 5-6 की लाइन से पानी आने लगेगा। फेज 5-6 की लाइन से 29 एमजीडी, (1305 लाख लीटर) अतिरिक्त पानी शहर को मिलने लगेगा। जबकि मोहाली में 5 एमजीडी (225 लाख लीटर), चंडीमंदिर और पंचकूला को 3-3 एमजीडी (135 - 135 लाख लीटर) पानी और मिलने लगेगा। इससे न केवल चंडीगढ़ के 1.55 लाख वाॅटर कंज्यूमर को प्रेशर से सप्लाई मिलने लगेगी। बल्कि मोहाली और पंचकूला के कंज्यूमर को भी प्रेशर से पानी की सप्लाई होने लगेगी।

अप्रूवल मिलेगी या नहीं-मंगलवार तक पता चलेगा









Click to listen..