चंडीगढ़ समाचार

--Advertisement--

भारत बंद का आह्वान करने मार्केट गए थे कांग्रेसी, ‌‌‌व्यापारियों ने लगाया धमकाने का आरोप

पुलिस को दी सूचना, कार्यकर्ताओं को थाने बुलाया

Danik Bhaskar

Sep 09, 2018, 06:41 AM IST

चंडीगढ़. देश में बढ़ती पेट्रोल की कीमतों पर कांग्रेस ने देशभर में 10 सितंबर को भारत बंद का आह्वान किया हुआ है। इसके चलते चंडीगढ़ कांग्रेस के कार्यकर्ता शनिवार को शहर की मार्केट्स में गए और लोगों से इस आह्वान में हिस्सा लेने के लिए रिक्वेस्ट कर रहे थे। इस बीच एक दुकानदार ने कांग्रेसी कार्यकर्ताओं द्वारा धमकाए जाने की जानकारी व्यापार मंडल को दी। जिस पर एरिया में घूम रहे सभी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को थाने बुला लिया गया। जहां पर एसएचओ-49 के सामने दोनों पक्षों के बीच बैठाकर मीटिंग करवाई। इस दौरान चंडीगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा, पूर्व सांसद व रेल मंत्री पवन बंसल भी पुलिस स्टेशन पहुंचे। कांग्रेसियों का कहना है कि भारत बंद के आह्वान से विरोधी पार्टियां डरी हुई हैं जिस वजह से उनकी पार्टी से संबंधित लोगों ने ही पुलिस को झूठी सूचना दी है।

राजनीतिक पार्टी से कोई संबंध नहीं : दूसरी तरफ सेक्टर-48 मोटर मार्केट के दुकानदार कमल सुरी का कहना है कि वह व्यापारी हैं और उनका किसी भी राजनीतिक पार्टी से कोई संबंध नहीं है। उनकी दुकान पर कुछ लोग आए। आकर बोला कि 10 सितंबर को भारत बंद है और वह भी अपनी दुकान को बंद रखें। अगर वह ऐसा नहीं करेंगे तो उनकी पार्टी के लोग धरना देंगे। ऐसे में दुकान का कोई नुकसान हो गया तो उन्हें खुद ही भुगतना होगा। इसके बाद उन्होंने सीबीएम के प्रधान से बात की और फिर जानकारी पुलिस को दी गई। मामले में डीएसपी पीआरओ पवन कुमार का कहना है कि कोई एफआईआर रजिस्टर नहीं है। दोनों पक्षों को थाने बुलाया था।

दुकानदारों से सिर्फ अपील ही की : बताया गया कि कांग्रेस के जनरल सेक्रेट्री संदीप भारद्वाज कुछ कार्यकर्ताओं के साथ शहर की मार्केट में जा रहे थे। संदीप के मुताबिक वह सेक्टर-48 और 49 की मार्केट में गए। जहां पर उन्होंने मार्केट के लोगों से अपील की कि वह उनका साथ दें और भारत बंद को सफल बनाएं। इस पर सभी लोग उनका साथ देने के लिए तैयार भी हो गए। इस बीच सेक्टर-48 मोटर मार्केट से एक दुकानदार ने पुलिस को झूठी सूचना दे दी कि कांग्रेस के लोग उन्हें डरा रहे हैं। इस पर उन्हें सेक्टर-49 थाने से फोन कॉल आया। जिस पर उन्होंने कहा कि वह अभी काम कर रहे हैं और थाने नहीं आ सकते। उन्हें एसएचओ की तरफ से बोला गया कि उनके खिलाफ थाने में शिकायत आई है और पुलिस उनके खिलाफ एफआईआर रजिस्टर कर देगी। इसके बाद संदीप ने कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष से बात की और सभी लोग शाम को चार बजे थाने पहुंचे।

Click to listen..