--Advertisement--

चंडीगढ़ के मल्टीप्लेक्स में अब साथ ले जा सकेंगे फूड आइटम, एमआरपी पर बेचना होगा हर सामान

मल्टीप्लेक्स मालिकों को 30 दिन में लिस्ट देनी होगी, क्या-क्या खाने-पीने का सामान है और किस रेट पर बेचते हैं।

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:33 AM IST
इस समय मल्टीप्लेक्स में पॉपकॉ इस समय मल्टीप्लेक्स में पॉपकॉ

चंडीगढ़. मल्टीप्लेक्स में मूवी देखने जाने वाले इस बात से ज्यादा परेशान होते हैं कि वहां खाने-पीने के सामान के मनमर्जी के रेट वसूले जाते हैं। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। मल्टीप्लेक्स में खाने-पीने का सामान एमआरपी पर ही मिलेगा। साथ ही लोग अपने साथ बाहर से सामान भी ले जा सकेंगे। राहत भरा यह फैसला सोमवार को डिस्ट्रिक्ट कंज्यूमर प्रोटेक्शन काउंसिल की मीटिंग में लिया गया है। डीसी अजीत बालाजी जोशी की अध्यक्षता में सोमवार को हुई मीटिंग में मल्टीप्लेक्स के मालिक भी मौजूद रहे। डिस्ट्रिक्ट कंज्यूमर प्रोटेक्शन सेल ने मल्टीप्लेक्स मालिकों को कहा है कि 30 दिन में लिस्ट दें कि उनके यहां क्या-क्या खाने-पीने का सामान बिकता है और इसे किस रेट पर दिया जाता है। इसके बाद ही नया फैसला लागू होगा।

यह फैसले हुए...

- कोई भी सामान एमआरपी से ज्यादा दाम पर नहीं बेचा जा सकेगा।

- जहां खाने-पीने का सामान मिलता है, वहां पर सामान की लिस्ट और रेट लगाना जरूरी होगा।

- सीनियर सिटीजंस जो उम्र के साथ होने वाली बीमारियों से पीड़ित हैं, वे अपनी जरूरत के मुताबिक खाने-पीने का सामान सिनेमा हाॅल में ले जा सकेंगे।

- छोटे बच्चों को मूवी में साथ ले जाने वाले दूध की बोतल, बिस्किट, पीने का पानी व अपनी जरूरत के मुताबिक सामान ले जा सकेंगे।

- अब फूड काॅर्नर में लस्सी, दूध और जूस भी रखना होगा।

- मल्टीप्लेक्स मालिक गार्ड को ट्रेनिंग दें, ताकि वे खाने-पीने के सामान को लेकर लोगों को परेशान न करें।

मल्टीप्लेक्स मालिक बोले-लाेग तो परांठे भी साथ ले अाएंगे

मीटिंग के दौरान उस वक्त मल्टीप्लेक्स मालिकों की तरफ से आॅब्जेक्शन उठाया गया, जब सभी लोगों को बाहर से खाने-पीने का सामान लाने की परमिशन देने की बात कही गई। काउंसिल के मेंबर्स ने कहा कि बाहर से भी खाने-पीने की छूट मिलनी चाहिए। इस पर मालिकों का कहना था कि ऐसे तो लोग परांठे लेकर मूवी देखने आ जाएंगे। इससे हाइजीन को लेकर दिक्कत आएगी। इस पर मेंबर ने जवाब दिया कि घर से लाया गया खाने-पीने का सामान अच्छा होता है, न कि बाहर से खरीदा गया सामान।

मूवी टिकट से ज्यादा खर्च हो जाता है खाने-पीने पर
अभी मल्टीप्लेक्स में जो लोग मूवी देखने के लिए जाते हैं, उनका खाने-पीने के सामान पर मूवी टिकट से ज्यादा खर्च हो जाता है। जो सामान बाहर 30 से 40 रुपए में मिलता है, वह 100 से 150 रुपए में दिया जाता है। चंडीगढ़ में मल्टीप्लेक्स में लोगों को महंगे रेट पर सामान न खरीदना पड़े, इसलिए इसको अनफेयर ट्रेड प्रैक्टिस घोषित करने की तैयारी है। इसके लिए ही डिस्ट्रिक्ट कंज्यूमर प्रोटेक्शन काउंसिल (डीसीपीसी) की पिछली मीटिंग में एजेंडा लाया गया था। इसी के तहत सोमवार को मल्टीप्लेक्स मालिकों को मीटिंग में बुलाया गया।

180 रु. का तो पॉपकॉर्न, कोल्ड ड्रिंक 60, 80 और 100 रुपए में

इस समय मल्टीप्लेक्स में पॉपकॉर्न के 150 से 180 रुपए तक लिए जाते हैं। कोल्ड ड्रिंक्स स्मॉल 60 रुपए, मीडियम 80 रुपए और लार्ज 100 रुपए में बेची जाती है। जबकि कोल्ड ड्रिंक्स अगर बाहर किसी भी दुकान से लें तो बाहर दुकान में 80 रुपए में दो लीटर की कोल्ड ड्रिंक की बोतल आ जाती है। इसी तरह से पॉपकोर्न जो मल्टीप्लेक्स में 150 रुपए से भी ज्यादा में बेचे जाते हैं, उतने 50 रुपए तक में आ जाते हैं। बर्गर, सैंडविच व बाकी चीजों के रेट भी इसी तरह से बाहर के मुकाबले कहीं ज्यादा वसूले जाते हैं।

X
इस समय मल्टीप्लेक्स में पॉपकॉइस समय मल्टीप्लेक्स में पॉपकॉ
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..