--Advertisement--

जेईई एडवांस्ड के लिए प्रणव रोज 8 से 9 घंटे करते थे स्टडी, बताया इस शेड्यूल को फॉलो कर पाई सफलता

JEE Advanced 2018 का रिजल्ट रविवार को डिक्लेयर कर दिया गया।

Dainik Bhaskar

Jun 10, 2018, 10:57 AM IST
फैमिली के साथ प्रणव फैमिली के साथ प्रणव

चंडीगढ़. जॉइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (जेईई) एडवांस्ड में इस बार चंडीगढ़ के स्टूडेंट ने बाजी मारी है। चंडीगढ़ सेक्टर-15 के प्रणव गोयल ने ऑल इंडिया रैंक 1 हासिल किया है। संबधित छात्र इसे ऑफिशियल वेबसाइट jeeadv.ac.in पर चेक कर सकते हैं। दिल्ली की मीना प्रकाश ने छात्राओं में पहला स्थान प्राप्त किया है। वहीं, केवीआर. हेमंत कुमार ने IIT खड़गपुर रीजन में टॉप किया है। उनकी 6th रैंक है। विनीता वेनेला IIT खड़गपुर रीजन मे छात्राओं में टॉपर रही हैं। उनकी रैंक 261st है। ​

चंडीगढ़ सेक्टर-34 के चैतन्य इंस्टीट़्यूट ने पहले ही प्रणब के टॉप करने का दावा किया था। जिसके बाद दैनिक भास्कर ने एक दिन पहले ही शनिवार को प्रणव गाेयल से बात की और जाना कि 12वीं में ट्राईसिटी टॉपर बनने के बाद देश के टॉपर बनने तक उनके लिए क्या चैलेंजेज थे और कैसे उन्होंने इन चैलेंजेज से पार पाया। प्रणव ने इस एग्जाम में 360 में से 337 स्कोर किया है।

शुरू से ही रहे हैं क्लास टॉपर, जेईई मेन्स में भी टॉप स्कोर

- दिल्ली पब्लिक स्कूल सेक्टर-40 से 10वीं और भवन विद्यालय पंचकूला से 12वीं कर चुके प्रणव ने 10वीं में सीजीपीए 10 लिया और 12वीं में 97.2 परसेंट लेकर ट्राईसिटी में टॉप किया।

- हालांकि चौथी क्लास से प्रणव का यह रिकॉर्ड कायम है कि वह हमेशा अपनी क्लास में टॉप पर आते हैं।

- जेईई एडवांस देने से पहले जेईई मेन्स का रिजल्ट आया था उसमें उन्होंने 360 में से 350 स्कोर लिए थे।

- यह 150 स्कोर लेने वाले देश के 6 स्टूडेंट थे इसलिए टाई होने की वजह से सब्जेक्ट में नंबर के अाधार पर रैंक दिए गए और प्रणव को चौथा रैंक मिला था।

हर रोज सुबह बनाते थे दिन का शेड्यूल

- प्रणव ने कहा कि वह हर रोज आधा घंटा लगाकर यह शेड्यूल बनाता था कि उसे पूरे दिन में क्या कुछ करना है।

- कोशिश करता था कि जो शेड्यूल बना उसे पूरी तरह फॉलो करूं। 8 से 9 घंटे तक पढ़ाई करता था और कई बार ऐसा होता था कि डिमोरलाइज हो जाता था।

- ऐसे में अपने पियर ग्रुप को देखकर मोटिवेटेड होता था कि अगर वह कर रहे हैं तो मैं क्यों नहीं कर सकता। पढ़ाई करके जब थक जाता तो नॉवल पढ़ता या टीवी पर कार्टून देखता था।

आईआईटी मुंबई में लेंगे एडमिशन


- प्रणव ने कहा कि वह आईआईटी मुंबई में एडमिशन लेंगे। इसके बाद दो साल जॉब फिर एमबीए करने के बाद अल्टीमेट लक्ष्य बिजनेस करने का है क्योंकि वह एंटरप्रेन्योर बनना चाहते हैं।

- अगर आपको जेईई एडवांस क्रैक करना है तो कैलकुलेटिव और प्लांड तरीके से चलना होगा और यह एंश्योर करना होगा कि अाप पढ़ाई में वही पढ़ रहे हो जिसकी जरूरत पड़ेगी।

- प्रणव के पिता पंकज गोयल और मां ममता गाेयल दोनों बिजनेस करते हैं और उनकी फार्मा कंपनी है। पेरेंट्स का कहना था कि उन्हें अपने बेटे पर गर्व है।

एनटीएसई से ओलंपियाड तक

- पिछले तीन सालों में प्रणव ने नेशनल लेवल के कई एग्जामिनेशंस को क्रैक किया है। नेशनल टैलेंट सर्च एग्जामिनेशन (एनटीएसई) को 10वीं में क्रैक किया।

- 11वीं में किशोर विज्ञान प्रोत्साहन योजना और इंडियन नेशनल मैथ्स ओलंपियाड को क्रैक किया।

- इसके बाद 12वीं में केमिस्ट्री, फिजिक्स और एस्ट्रोनॉमी ओलंपियाड को क्रैक किया।

- ओलंपियाड में नेशनल लेवल पर भाग लेने के लिए दो बार प्रणव मुंबई स्थित बाबा हाेमी एटॉमिक सेंटर में भी गए।

X
फैमिली के साथ प्रणवफैमिली के साथ प्रणव
Bhaskar Whatsapp
Click to listen..