--Advertisement--

जेईई एडवांस्ट रिजल्ट से पहले चौकाने वाला खुलासा, कोचिंग इंस्टीट्यूट का दावा- टॉपर चंडीगढ़ के प्रणव, दिल्ली के कैलाश का दूसरा स्थान

- चैतन्य इंस्टीट्यूट ने ये भी कहा- तीसरा रैंक कोटा के पवन गोयल और चौथा हैदराबाद के हेमंत कुमार का

Dainik Bhaskar

Jun 10, 2018, 06:23 AM IST
प्रणव गोयल प्रणव गोयल

- सुबह 10 बजे आएगा रिजल्ट, इंस्टीट्यूट ने टॉपर को मीडिया से मिलाने के लिए 9.45 बजे रखी है काॅन्फ्रेंस

चंडीगढ़. देश के सबसे प्रतिष्ठित परीक्षाओं में से एक जेईई एडवांस्ड का रिजल्ट रविवार को घोषित होना है। लेकिन, इससे पहले ही कई कोचिंग इंस्टीट्यूट्स को पता है कि ऑल इंडिया रैंक-1 चंडीगढ़ के प्रणव गोयल का होगा। उनके 360 में 337 नंबर आएंगे। प्रणव के टॉपर होने का पता कैसे चला, इसका कोई साफ सा जवाब किसी के पास नहीं है। दावा ये भी किया गया है कि दूसरे स्थान पर दिल्ली के कैलाश गुप्ता, तीसरे पर कोटा के पवन गोयल और चौथे पर हैदराबाद के हेमंत कुमार होंगे। प्रणव को कोचिंग देने वाले चैतन्य इंस्टीट्यूट ने अपनी कामयाबी बताने के लिए सुबह 9:45 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस रखी है।

जबकि रिजल्ट आईआईटी कानपुर को 10 बजे घोषित करना है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रणव को मीडिया के सामने लाया जाएगा। भास्कर ने इंस्टीट्यूट से जब सवाल किया कि रिलज्ट से पहले वह अपने स्टूडेंट को देशभर का टॉपर कैसे घोषित कर सकता है? जवाब मिला कि सबको पता है कि टॉपर कौन है, अब तो बस सरकारी घोषणा का इंतजार है। वहीं, प्रणव का कहना है कि मुझे बताया गया कि मैं टॉपर हूं। लेकिन पता कैसे चला मुझे नहीं मालूम।

सीधी बात, लेकिन जवाब सीधे नहीं

-हितेश, मैनेजर, चैतन्य इंस्टीट्यूट सेक्टर-34

रिजल्ट रविवार आना है, आपने घोषणा कैसे कर दी?

- स्टूडेंट के स्कोर के हिसाब से तय किया। प्रणव से ज्यादा स्कोर देशभर में किसी का नहीं है।

एग्जाम 1 लाख 64 हजार से ज्यादा छात्रों ने दिया तो फिर आपको सबका स्कोर कैसे पता चला?

- क्योरा ऑनलाइन पोर्टल से पता लग जाता है। वहीं से हमने कन्फर्म किया।

हमने भी यह पोर्टल देखा है, क्या यह इतना भरोसेमंद है कि आपने पहले ही प्रेस कॉन्फ्रेंस तक बुला ली?

- स्टूडेंट्स इस पर इंटरैक्ट करते हैं।

पंकज गोयल, प्रणव गोयल के पिता

आपके बेटे का रैंक-1 है, आपको एक दिन पहले कैसे पता चला?

- हमें टोटल स्कोर पता था और इंस्टीट्यूट ने बताया कि हमारा बेटा ऑल इंडिया टॉपर है।

क्या आपको पूरा यकीन है कि यह जानकारी सही है?

- हम पक्के तौर पर नहीं कह सकते, क्योंकि हम पूरी तरह से इंस्टीट्यूट की इंफाॅर्मेशन के भरोसे हैं।

अंदर की बात... कोचिंग देने वाले अनऑफिशयली कन्फर्म करते हैं मार्क्स

- 20 मई को 1, 64, 822 स्टूडेंट्स ने एग्जाम दिया। 29 मई को आईआईटी कानपुर ने इसकी आंसर-की वेबसाइट पर अपलोड कर दीं। एक इंस्टीट्यूट के सूत्र ने बताया कि इसके बाद इंस्टीट्यूट अपने स्टूडेंट्स के जवाब मैच करने शुरू किए।

- मार्क्स जोड़ने से टोटल स्कोर निकल आता है। एडवांस्ड के रिजल्ट में जिसकी परसेंटेज 85 से 90 के बीच होती है, वह टॉपर हो सकता है। इसके बाद देश के सभी टॉप इंस्टीट्यूट अपने टॉपर स्टूडेंट के मार्क्स को एक-दूसरे के साथ अनऑफिशियली शेयर करते हैं।

- यह पूरी कवायद एक हफ्ते तक चलती है। इससे यह पता लग जाता है कि टॉप स्कोर देश में किस स्टूडेंट का है। अगर कोई इंस्टीट्यूट स्कोर छिपाता है तो इंस्टीट्यूट अपने स्टूडेंट को ही सोर्स की तरह इस्तेमाल करते हैं।

टॉपर करते हैं क्रॉसचेक...

- सूत्र ने बताया कि कोई इंस्टीट्यूट स्टूडेंट का स्कोर गलत नहीं बता रहा, क्योंकि इसकी क्रॉस चेकिंग होती है। बेहतरीन स्कोर वाले स्टूडेंट मुंबई के होमी भाभा एटॉमिक सेंटर में ओलंपियाड के लिए सिलेक्ट होते हैं। वहां स्टूडेंट एक-दूसरे से स्कोर पता करते हैं और अपने इंस्टीट्यूट को बताते हैं।

X
प्रणव गोयलप्रणव गोयल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..