--Advertisement--

फिल्म सिंघम का पंजाबी वर्जन बनाने जा रहे थे सिंगर परमीश, गैंगस्टर ने मांगे थे 25 लाख

पंजाबी सिंगर परमीश वर्मा पर फिरौती न देने के कारण ही कातिलाना हमला हुआ।

Dainik Bhaskar

Apr 15, 2018, 11:29 PM IST
परमीश अौर चाहल की हालत खतरे से परमीश अौर चाहल की हालत खतरे से

मोहाली. पंजाबी सिंगर, डॉयरेक्टर और एक्टर परमीश वर्मा पर शुक्रवार देर रात गोली चलाने वाले गैंगस्टर दलप्रीत सिंह के दो साथी को मोहाली पुलिस ने पकड़ लिया है। उनमें से एक की पहचान बद्दी के गांव भुल्लरवालां के रहने वाला हरविंदर सिंह हैप्पी और दूसरे को अमृतसर पुलिस ने पकड़ा है जिसकी पहचान भूपिंदर सिंह उर्फ भिंदा व डॉन के रुप में हुई है। वहीं सामने आ रहा है कि गैंगस्टर वाले परमीश वर्मा से 25 लाख रुपए मांग रहे थे। सूत्रों के अनुसार परमीश ने इसकी जानकारी पुलिस को भी दी हुई थी। पुलिस की ओर से कहा गया था कि इसमें संपत नेहरा गैंग हो सकता है। वहीं अमृतसर पुलिस ने भिंदा के पकड़ने की सूचना मोहाली पुलिस को दे दी है। इसको अब मोहाली पुलिस यहां पर लेकर आ रही है। पुलिस ने पकड़े गए आरोपी हरविंदर सिंह हैप्पी को कोर्ट में पेशकर पांच दिन के पुलिस रिमांड पर ले लिया है और उससे सीआईए में पूछताछ की जा रही है।

पंजाबी सिंघम फिल्म की खबरों के बाद मांगी थी फिरौती

परमीश वर्मा अजय देवगन की सुपरहिट फिल्म सिंघम का सीक्वेंस पंजाबी में बनाने जा रहे थे। इस बारे में उनका करार हो चुका है और फिल्म को प्रोड्यूस अजय देवगन ने ही करना था। जबकि, फिल्म में परमीश लीड रोल करने जा रहे थे। इस फिल्म के बारे में खबरें सोशल मीडिया में जब वायरल हुई तो फिल्म का हिट होना लगभग तय माना जा रहा था। सूत्रों के मुताबिक उसके बाद से परमीश वर्मा को लगातार फिरौती के लिए धमकियां मिल रही थी। उससे गैंग 25 लाख की फिरौती मांग रहे थे।

सूत्रों की मानें तो एक बड़े पुलिस अधिकारी को वारदात से कई दिन पहले ही परमीश ने इसकी जानकारी दी थी। तब उसे कहा गया था कि यह संपत नेहरा गैंग हो सकता है। उन्हें जल्द पकड़ लिया जाएगा। जबकि ऐसा नहीं हुआ और फिरौती न मिलने के कारण ही परमीश पर हमला हुआ। आरोपियों ने जानबूझकर परमीश के पैर पर हिट किया, ताकि बाकी सिंगरों में भी डर पैदा किया जाए। सिर्फ परमीश ही नहीं, परमीश के साथ ही अपना करियर शुरू कर हिट हाेने वाले पंजाबी सिंगर को भी लगातार फिराैती के लिए धमकियां मिल रही हैं। अंदेशा लगाया जा रहा है कि इस हमले के बाद से पंजाबी फिल्म एंड म्यूजिक इंडस्ट्री में फिरौती देने का सिलसिला शुरू हो सकता है।

फोर्टिस अस्पताल में इलाज करा रहे परमीश और उसका दोस्त कुलवंत सिंह चहल की हालत में सुधार है। गोली से हुए हमले के बाद परमीश और चाहल का इलाज रविवार को अस्पताल में चला। दोनों की हालत को लेकर फोर्टिस की ओर से बताया गया है कि दोनों अब ठीक हैं और खाना भी खा रहे हैं। परमीश का दोस्त सत्ता उसके साथ है और परमीश के खाने पीने का ध्यान भी रख रहा है। उधर रविवार को भी अस्पताल में उनका हाल जानने के लिए बाहर फैन खड़े थे और अंदर पंजाबी सिंगर व कलाकारों का तांता लगा हुआ था।

करनाल से 15 दिनों पहले लूटी गई थी क्रेटा

पुलिस सूत्रों की मानें तो सामने आ रहा है कि जिस गाड़ी में गैंगस्टर दलप्रीत सिंह अपने पांच अन्य गैंगस्टरों के साथ परमीश पर हमला करने आया था वह क्रेटा गाड़ी करनाल से लूटी हुई हो सकती है। क्योंकि करीब 15 दिनों पहले करनाल के पास से गन पॉइंट पर एक सफेद रंग की क्रेटा गाड़ी लूटी गई थी। अब इस मामले में पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

अगले दिन भी पुलिस ने मौका-ए-वारदात से बरामद किए खोल

परमीश पर हुए हमले के बाद पुलिस बार-बार उस मौका-ए-वारदात की जायजा ले रही है। रविवार को पुलिस को मौका-ए-वारदात से सर्च करते हुए एक बोर .315 पिस्टल का खोल बरामद किया है। घटनास्थल के पास रहने वाले लोगों की मानें तो घटना वाली रात को एक के बाद एक कई गोलियां चलने की आवाज सुनी गई थी।

दाहा के नजदीकियों पर कस रहे पकड़

अमृतसर पुलिस ने दिलप्रीत सिंह दाहा के खासमखास भूपिंदर सिंह उर्फ भिंदा डोन को करीब तीन दिन पहले एक कत्ल केस में गिरफ्तार किया था। दिलप्रीत व भिंदा ने मिलकर अमृतसर में एक कत्ल किया था। इसी केस में अमृतसर पुलिस ने भिंदा को गिरफ्तार किया हुआ है। जो वहां पर रिमांड पर है। अब भिंदा से परमीश पर हमले को लेकर भी पूछताछ की जा रही है। पुलिस दाहा के नजदीकियों पर शिकंजा कस के दाहा तक पहुंचने की कोशिश की रही है।

चंद दिनों पहले भी चंडीगढ़ में थे गैंगस्टर...
पुलिस सूत्रों के मुताबिक, चंद दिनों पहले गैंगस्टर दलप्रीत सिंह धाहा व संपत नेहरा की चंडीगढ़ आने की गुप्त सूचना पुलिस को मिली थी। इसको लेकर चंडीगढ़ के साथ-साथ मोहाली में हाईअलर्ट रहा था और पुलिस ने नाकाबंदी की थी। मोहाली पुलिस ने तो पूरे शहर को सील कर जहां नाकों पर बैरिकेडिंग की हुई थी वहीं पुराने टॉयरों से दीवार बनाई हुई थी। लेकिन गैंगस्टर मोहाली पुलिस के हाथ नहीं आ सके थे। चंडीगढ़ पुलिस के एक उच्च अधिकारी ने बताया कि उस दिन गैंगस्टर की लोकेशन सेक्टर-38 में कुछ समय के लिए आई थी।

X
परमीश अौर चाहल की हालत खतरे से परमीश अौर चाहल की हालत खतरे से
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..