--Advertisement--

स्विस लेडी की एंबेसी को कम्प्लेंट, इंडियन पुलिस केस दर्ज तक नहीं करती, स्नैचर क्या पकड़ेगी

स्विट्जरलैंड की लेडी से मोहाली में हुई स्नैचिंग, 3 दिन बाद भी एफआईआर नहीं

Danik Bhaskar | Jun 28, 2018, 02:56 AM IST
सिम्बोलिक इमेज सिम्बोलिक इमेज

स्नैचिंग नॉन-स्टॉप; इस साल अब तक:
चंडीगढ़- 102
पंचकूला- 22
मोहाली- 56

मोहाली. ट्राईसिटी में बढ़ती जा रही स्नैचिंग की वारदातों को रोकने में पुलिस फेल हो गई है। अपने थाने का रिकॉर्ड खराब न हो, इसलिए पुलिस स्नैचिंग में एफआईआर तक दर्ज नहीं करती। ऐसा ही एक मामला मोहाली में सन्नी इन्क्लेव में आया है। स्विट्जरलैंड की सिटीजन से तीन दिन पहले स्नैचिंग हुई थी, लेकिन पुलिस ने केस तक दर्ज नहीं किया। शिकायतकर्ता महिला एरीका संधू के बेटे हेक्टर संधू ने कहा कि परेशान होकर स्विट्जरलैंड एंबेसी को ई-मेल के जरिए शिकायत दी है। इसमें कहा कि जब इंडियन पुलिस एफआईआर तक दर्ज नहीं कर रही, तो स्नैचर कैसे पकड़ेगी। स्विट्जरलैंड एंबेसी से एरिका को जवाब भी आया है कि वे एक लेटर मिनिस्ट्री ऑफ फॉर्नर अफेयर्स को भेज रहे हैं। रविवार शाम करीब 5:40 पर सन्नी इन्क्लेव में वेरका बूथ के पास दो एक्टिवा सवार लड़के एरिका से चेन छीनकर ले गए थे। झपट्‌टे से आधी चेन टूट गई थी।

इधर, चंडीगढ़ में भी स्नैचिंग; पैदल जा रही महिला का बाइक सवार ने किया पर्स स्नैच

शहर में स्नैचिंग रोकने के लिए चंडीगढ़ पुलिस की सारी प्लानिंग फेल साबित हो रही है। आम लोग स्नैचरों का शिकार बन रहे हैं। बुधवार को शहर में दोबारा से स्नैचिंग की वारदात हो गई। डड्डूमाजरा की रहने वाली सरिता ड्यूटी पर जा रही थी। जब वे सेक्टर-38 के पेट्रोल पंप के बाहर पहुंचीं तो पीछे से आए बाइक सवार लड़के ने उनका पर्स छीन लिया। सरिता ने इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी। पुलिस ने बाइक सवार के हुलिए और बाइक की पहचान को वायरलेस पर भेजा, लेकिन कोई सुराग नहीं लग पाया।

केस तो हम 10 मिनट में दर्ज कर देंगे: चौकी इंचार्ज

- सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली है। इसमें आरोपियों का चेहरा व एक्टिवा का नंबर क्लीयर नहीं है। एफआईआर दर्ज करने की कोई बात नहीं है, वो तो आज भी बयान लेकर दर्ज कर देंगे, उसमें सिर्फ 10 मिनट ही लगते हैं।
-अवतार सिंह धालीवाल, चौकी इंचार्ज सन्नी इन्क्लेव

- चौकी इंजार्च से पूछेंगे कि एफआईआर क्यों नहीं दर्ज नहीं की गई। -दीप कमल, डीएसपी खरड़