--Advertisement--

मां ने बेटी को छेड़ने से रोका तो आरोपियों ने पूरे परिवार को घर में घुसकर पीटा, पुलिस ने कमरे का ताला तोड़ लहूलुहान हालत में निकाला

आरोप के मुताबिक जगतपुरा में कुछ लड़कों ने 12 साल की बच्ची से छेड़छाड़ की।

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 09:23 AM IST
पीड़ित लड़की की पहचान न हो इसलिए पीड़ित लड़की की पहचान न हो इसलिए

मोहाली (चंडीगढ़)। सोहाना पुलिस स्टेशन के अधीन आने वाले जगतपुरा गांव में सोमवार रात को काफी हंगामा हुआ। आरोप के मुताबिक जगतपुरा में कुछ लड़कों ने 12 साल की बच्ची से छेड़छाड़ की। बच्ची ने अपनी मां को यह बात बताई। मां ने जब विरोध किया तो छेड़छाड़ करने वालों ने अपने साथियों के साथ मिलकर पूरे परिवार पर हमला कर दिया।

- आरोपियों ने महिलाओं से लेकर नाबालिग के दोनों भाइयों पर तेजधार हथियारों से वार किए। बाद में परिवार को कमरे में बंद कर बाहर से आग लगाने लगे थे, लेकिन मौजूद लोगों ने हमलावरों को ऐसा करने से रोक दिया।

- इसके बाद आरोपी वहां से भाग गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने खून में लथपथ परिवार को फेज-6 के सिविल अस्पताल में एडमिट कराया। सभी के सिर व बाजुओं पर टांके लगे हैं।

- नाबालिग की मां की शिकायत पर पुलिस ने मान सिंह, उसके छोटे भाई संजीव कुमार, पप्पू व कुछ अज्ञात लोगों पर केस दर्ज कर लिया है।

- पुलिस ने धारा 323 (झगड़ा करना), 341 (घर में घुसकर मारपीट करना) और धमकियां देने की धाराओं के तहत केस दर्ज किया है।

सब लहूलुहान हो गए और जान बचाने के लिए कमरे की तरफ भागे
- एसएचओ मंजीत सिंह का कहना है कि अभी छेड़छाड़ का केस दर्ज नहीं किया है। जांच चल रही है, अभी आरोपियों पर और भी धाराएं जाेड़ी जाएंगी। आरोपियों में से किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

- पीड़ित ने पुलिस को दी शिकायत में कहा कि सोमवार रात उनकी 12 साल की बेटी गुरुघर में लंगर खाने के लिए गई हुई थी। जब वह वापस आ रही थी तो मान सिंह व पप्पू ने घर के पास छेड़छाड़ करनी शुरू कर दी।

- बेटी चिल्लाई तो मैं भागकर बाहर आई। जब उसने आरोपियों को रोका तो उनके कुछ साथी भी वहां पर आ गए और घर में घुस गए। आरोपियों ने सभी को डंडों व तलवारों से पीटा।

- सब लहूलुहान हो गए और जान बचाने के लिए अपने कमरे की तरफ भागे। लेकिन हमलावर उनके पीछे अा गए और दरवाजा तोड़ने का प्रयास करने लगे। दरवाजा नहीं तोड़ पाए तो कहने लगे कि ‘आग लगा दो’।

- आसपास के लोगों ने उन्हें ऐसा करने से रोका। पीड़ित परिवार का कहना है कि जब हमलावर मारपीट कर रहे थे तो हमने जान बचाने के लिए 100 नंबर पर कॉल किया, लेकिन बार-बार फोन चंडीगढ़ पुलिस को मिला।

पुलिस ने कमरे का ताला तोड़ लहूलुहान हालत में निकाला बाहर
- सोहाना पुलिस को जो शिकायत दी, उसमें बताया कि कुछ देर बाद मौके पर पीसीआर पार्टी पहुंच गई। पीसीअार मुलाजिमों ने ताला तोड़कर पूरे परिवार को कमरे से बाहर निकाला।

- अंदर महिला बेहोश को चुकी थी और खून में सनी जमीन पर पड़ी हुई थी। पीड़ित मां के दोनों भाइयों के सिर व बाजुआों से खून निकल रहा था।

- पीसीआर मुलाजिम तुरंत पूरे परिवार को एक प्राइवेट व अपनी पीसीआर गाड़ी में फेज-6 सिविल अस्पताल ले गए। जहां पर उनको ट्रीटमेंट के बाद छुट्टी दे दी गई।

X
पीड़ित लड़की की पहचान न हो इसलिए पीड़ित लड़की की पहचान न हो इसलिए
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..