पंचकूला-जीरकपुर रोड पर बने होटल्स से कॉलोनियों की सीवर लाइन हो रही जाम

Panchkula Bhaskar News - सिटी रिपोर्टर | पंचकूला/जीरकपुर पंचकूला-जीरकपुर रोड पर बने होटल्स यहां की दर्जनभर कॉलोनियों के लोगों के लिए...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:30 AM IST
Panchkula News - the sewer line of the colonies is going on from hotels built on panchkula girakpur road
सिटी रिपोर्टर | पंचकूला/जीरकपुर

पंचकूला-जीरकपुर रोड पर बने होटल्स यहां की दर्जनभर कॉलोनियों के लोगों के लिए परेशानी बन रहे हैं। वजह यह है कि इन होटल्स के पास नियम के मुताबिक खुद के सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट नहीं है। होटल्स की किचन से लेकर रूम तक का सारा गारबेज बिना ट्रीट के सीवर लाइनों में डाला जा रहा है। होटल्स के रूम के अंदर से और किचन से जिस तरह का गारबेज सीवर लाइनों में जा रहा है उससे वे ब्लाॅक हो रही है। यह सीवर लाइन यहां के रेजीडेंशियल एरिया के लिए है, लेकिन इसे होटल्स वालों ने भी इस्तेमाल किया है। जब एक जगह सीवर लाइन जाम हो जाती है तो सैकड़ों परिवारों का घर का सीवर रुक जाता है। जीरकपुर एमसी के अधिकारियों को देखना चाहिए कि होटल्स संचालकों के लिए म्यूनिसिपल बायलाज बने हैं तो फिर क्यों न इसका पालन किया जा रहा है। पार्षद भुपिंदर सिंह को यहां के कई लोगों की ओर से शिकायत मिलती है कि होटल्स वालों को इस काम से रोंकें। भुपिंदर सिंह ने कहा कि लोगों को परेशानी हो रही है। होटल्स वालों ने सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट नहीं लगाए है इस कारण यहां लाइनें ब्लाॅक हो रही है। सभी होटल्स को अपने सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाने चाहिए। सीवर लाइनों में ट्रीटेड वाटर आएगा तो लाइनें ब्लाॅक नहीं होंगी।

पंचकूला रोड पर करीब एक दर्जन छोटे बड़े होटल्स है। रोजाना इनमें पार्टियां, शादी के समारोह, कमरों की बुकिंग होती है। अच्छी खासी कमाई के बावजूद खुद का ट्रीटमेंट प्लांट न लगाकर एमसी की सीवर लाइनों में गारबेज को छोड़ना गलत है। यहां लोग अब इन होटल्स के खिलाफ रोष प्रदर्शन करने के लिए तैयार है। वधावा नगर के रहने वाले रोशन ने कहा कि जीरकपुर नगर परिषद को इस बात का पता करना चाहिए कि होटल्स की क्षमता के अनुसार उसमें कितना बड़ा सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट लगना चाहिए। अगर वह होटल्स चालक ट्रीटमेंट प्लांट नहीं लगाता है तो उसकी कीमत के बराबर होटल्स चालक को जुर्माना करना चाहिए। तब सभी ट्रीटमेंट प्लांट लगाएंगे। सालों से एमसी की लाइनों का बिना ट्रीटमेंट वाटर को छोड़ने के लिए भी जुर्माना करना चाहिए।

सभी होटल्स की चेकिंग की जाएगी। जिसकी वजह से यहां सीवर लाइनें ब्लाक हो रहीं है उन पर कार्रवाई की जाएगी। होटल्स का अपना सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट होना ही चाहिए। -गिरीश वर्मा, ईओ एमसी जीरकपुर

X
Panchkula News - the sewer line of the colonies is going on from hotels built on panchkula girakpur road
COMMENT