Hindi News »Union Territory News »Delhi News »News» 9 Regional Parties Opposed Triple Talaq Due To Muslim Majority Seats

जानिए 8 राज्यों के 9 दलों ने तीन तलाक के बिल का आखिर क्यों विरोध कर दिया?

bhaskar News | Last Modified - Dec 29, 2017, 11:11 AM IST

केंद्र की मोदी सरकार ने गुरुवार को लोकसभा में तीन तलाक बिल पेश किया। बिल को ध्वनिमत से निचले सदन ने पास भी कर दिया।
    • Video- लोकसभा में कानून मंत्री बोले- ये इतिहास बनाने का दिन...

      नई दिल्ली.केंद्र सरकार ने गुरुवार को लोकसभा में तीन तलाक को रोकने के मकसद से एक बिल पेश किया। इस लोकसभा में पास भी कर दिया गया। हालांकि, बहस के दौरान 8 राज्यों के 9 दलों ने तीन तलाक बिल या उससे जुड़े प्रावधानों का विरोध किया। वजह, इन राज्यों की मुस्लिम बहुल सीटें और मुस्लिम मतदाता हैं। इन 8 राज्यों में 474 विधानसभा मुस्लिम बहुल सीटें हैं। वहीं, देश में 218 लोकसभा सीटें ऐसी हैं जहां मुस्लिम वोटरों का असर है।

      विपक्ष ने बिल के प्रावधानों का विरोध किया

      - तेलंगाना के हैदराबाद से एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि ये बिल मूलभूत अधिकारों (फंडामेंटल राइट्स) का हनन करता है।

      - बिहार से आरजेडी और ओडिशा से बीजू जनता दल ने भी बिल का विरोध किया। केरल की मुस्लिम लीग, पश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस और सीपीएम ने भी इसी तरह बिल का विरोध किया।

      - महाराष्ट्र से एनसीपी, यूपी से सपा और तमिलनाडु से एआईएडीएमके ने भी बिल की खामियों को गिनाते हुए इसे संसद की स्टैंडिंग कमेटी के पास भेजने की मांग की। वहीं, एनडीए में शामिल शिवसेना, तेलगु देशम पार्टी और अकाली दल आदि पार्टियों ने बिल का समर्थन किया है।

      8 राज्यों में मुस्लिम सीटों का समीकरण

      राज्यकुल सीटेंमुस्लिम एमएलएमुस्लिम बहुल सीटें
      यूपी40325124
      पं. बंगाल29459100
      केरल1402940
      बिहार2432480
      तमिलनाडु2350540
      महाराष्ट्र2881050
      तेलंगाना1190930
      ओडिशा1470310

      8 राज्यों में मुस्लिम वोट बैंक

      राज्यमुस्लिमहिंदू
      प. बंगाल27.01%70.54%
      यूपी19.26%79.73%
      ओडिशा2.17%93.63%
      बिहार16.87%82.69%
      केरल26.56%54.73%
      तमिलनाडु5.86%87.58%
      महाराष्ट्र11.54 %79.83%
      तेलंगाना12%86%

      मुस्लिम बहुल 218 सीटों पर बीजेपी की नजर

      - देश में 145 लोकसभा सीटों पर 11 से 20% मुस्लिम वोटर हैं। 38 सीटों पर मुस्लिम वोटर 21 से 30% तक हैं। 35 सीटों पर 30% से ज्यादा मुस्लिम वोटर हैं। इस तरह मुस्लिम वोटरों के असर वाली सीटें 545 में से 218 हैं। तीन तलाक कानून बनने से इन सीटों पर बीजेपी को 2019 लोकसभा चुनाव में मुस्लिम महिलाओं के वोट मिल सकते हैं।

      - 2019 में लोकसभा चुनाव के साथ या पहले 13 राज्यों में विधानसभा चुनाव हैं। इनमें 130 विधानसभा सीटें मुस्लिम बहुल हैं। अकेले कर्नाटक में 40 मुस्लिम बहुल सीटें हैं। जहां 2018 की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसके अलावा 2018 में 7 और राज्यों में भी चुनाव हैं।

      2008 में 31 मुस्लिम सांसद थे

      - 2014 लोकसभा चुनाव में 22 मुस्लिम सांसद चुने गए थे। 2009 में 31 मुस्लिम लोकसभा पहुंचे थे।

      - इस बार सबसे अधिक 7 सांसद पश्चिम बंगाल से हैं। बिहार से 4, जम्मू-कश्मीर और केरल से 3-3 सांसद हैं। असम से 2 मुस्लिम सांसद हैं।

    • जानिए 8 राज्यों के 9 दलों ने तीन तलाक के बिल का आखिर क्यों विरोध कर दिया?
      +1और स्लाइड देखें
      तीन तलाक को रोकने के मकसद से पेश किया बिल लोकसभा ने पास कर दिया है।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Delhi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: 9 Regional Parties Opposed Triple Talaq Due To Muslim Majority Seats
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    Stories You May be Interested in

        रिजल्ट शेयर करें:

        More From News

          Trending

          Live Hindi News

          0
          ×