--Advertisement--

टीपू सुल्तान की तस्वीर पर बीजेपी ने जताई नाराजगी, विस अध्यक्ष बोले- गर्व की बात

टीपू सुल्तान मैसूर के शासक रहे थे और अंग्रेजों से लड़ते हुए जान गंवाई थी।

Danik Bhaskar | Jan 28, 2018, 07:23 AM IST

नई दिल्ली. कर्नाटक के बाद अब दिल्ली में भी टीपू सुल्तान की तस्वीर को लेकर विवाद शुरू हो गया है। दिल्ली विधानसभा में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की तस्वीरों के बीच दक्षिण भारत के शासक रहे टीपू सुल्तान की तस्वीर पर भाजपा विधायक ने आपत्ति जताई। वहीं इसे लेकर विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने कहा है कि टीपू सुल्तान की तस्वीर लगाना गर्व की बात है। उन्होंने अंग्रेजों के खिलाफ अनेक लड़ाइयां लड़ी थी।

दिल्ली विधानसभा में आने वाले लोगों को स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में बताने के लिए 70 तस्वीरें लगाई गई हैं। इन्हीं तस्वीरों में टीपू सुल्तान की भी तस्वीर शामिल है। टीपू सुल्तान मैसूर के शासक रहे थे और अंग्रेजों से लड़ते हुए जान गंवाई थी। इसे लेकर आप की दलील है कि ये 70 तस्वीरें दिल्ली की 70 विस क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करती हैं। गणतंत्र दिवस के मौके पर इन तस्वीरों का अनावरण किया गया। विस अध्यक्ष रामनिवास गोयल, सीएम अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी उपस्थित थे।


दिल्ली के इतिहास में टीपू सुल्तान का योगदान नहीं
बीजेपी विधायक एमएस सिरसा ने कहा कि केजरीवाल सरकार टीपू सुल्तान का महिमामंडन कर रही है। क्या दिल्लीवालों ने केजरीवाल को इसीलिए वोट दिया था। उन्होंने टीपू सुल्तान की तस्वीर लगाने का विरोध किया है। बीजेपी का दावा है कि टीपू सुल्तान ने दिल्ली के इतिहास में कोई योगदान नहीं दिया है।

टीपू सुल्तान की फोटो लगाना गर्व की बात
टीपू सुल्तान की फोटो लगाना गर्व की बात है। टीपू सुल्तान ने अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाइयां लड़ी। संविधान के एक पेज पर रानी लक्ष्मीबाई के साथ टीपू सुल्तान की तस्वीर है। संविधान बनाने वालों ने टीपू सुल्तान में किसी तरह का खोट नहीं देखा। भाजपा इस मुद्दे को उठाकर संविधान बनाने वाले पर प्रश्नचिह्न लगा रही है।
- रामनिवास गोयल, विधानसभा अध्यक्ष