--Advertisement--

नाबालिग को नौकरी से निकाला तो व्यापारी की हत्या कर 3.5 लाख लूटे

द्वारकानॉर्थ इलाके में मंगलवार रात कारोबारी की बदमाशों ने गोली मार कर हत्या कर दी।

Danik Bhaskar | Dec 21, 2017, 07:22 AM IST

नई दिल्ली. द्वारकानॉर्थ इलाके में मंगलवार रात कारोबारी की बदमाशों ने गोली मार कर हत्या कर दी। आरोपी इसके बाद कार में रखे साढ़े 3 लाख रुपए लेकर फरार हो गए। पुलिस ने हत्याकांड में शामिल 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इस हत्याकांड का मास्टरमाइंड कारोबारी का नाबालिग नौकर है, जिसे भी पुलिस ने पकड़ लिया है।


इस नौकर को कारोबारी ने कुछ महीने पहले नौकरी से निकाल दिया था। इसका बदला लेने के लिए इन लोगों ने कारोबारी की हत्या की। पुलिस के अनुसार 45 वर्षीय राजेन्द्र गर्ग नेस्ले के डिस्ट्रीब्यूटर थे। ककरोला में गोदाम है। मंगलवार रात वह कैश लेकर कार से घर जा रहे थे। भाई रमेश गर्ग और एक कर्मचारी कमलदेव था। दोनों कार में पीछे बैठे थे। ककरोला मोड़ पर बाइक सवार बदमाशों ने उनकी कार रोक ली। कारोबारी पर गोलियां चला दी। कारोबारी की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं भाई कर्मचारी को चोटें आईं हैं।


नौकर ने जुर्म किया कबूल
पुलिसने शक के आधार पर नाबालिग नौकर को हिरासत में लेकर पूछताछ की। सख्ती से पूछताछ करने पर उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया। पुलिस ने जनक नेपाली, मनोज, नागेन्द्र, रोहित और बब्बर को गिरफ्तार कर लिया।


पहले भी हुई थी झड़प
पुलिसउपायुक्त शिबेश सिंह के अनुसार इंस्पेक्टर अरुण कुमार ने हिरासत में लिए कर्मचारी से पूछताछ में पता चला कि कुछ माह पहले कारोबारी ने नाबालिग नौकर को निकाला था। इसके चलते उन दोनों के बीच झड़प भी हुई थी।


आरोपियों ने पूछताछ में खुलासा किया है कि कारोबारी ने उनके दोस्त को नौकरी से निकाला था। इसीलिए वह उसकी हथौड़े से पीट-पीट कर हत्या करना चाहते थे। रोजाना अकेले जाने वाले राजेन्द्र वारदात के समय अपने भाई और कर्मचारी के साथ घर के लिए निकले थे। इस कारण गोली मार कर राजेन्द्र की हत्या करनी पड़ी। पुलिस को हत्या का शक हो इसलिए बदमाशों ने सभी पर गोलियां चला दीं। इतना ही नहीं कार में रखा रुपए से भरा बैग लेकर जाना पड़ा, जो गिरफ्तारी का कारण बना।