Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» Child Died Due To Wrong Injection

दो बार गलत इंजेक्शन लगाने से 2 साल की बच्ची की आंतें फटीं, मौत

शालीमार बाग एरिया में झोलाछाप डॉक्टर ने दाे साल की मासूम परी की जान ले ली। उसके पेट में मामूली दर्द था।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 18, 2017, 05:55 AM IST

दो बार गलत इंजेक्शन लगाने से 2 साल की बच्ची की आंतें फटीं, मौत

नई दिल्ली.शालीमार बाग एरिया में झोलाछाप डॉक्टर ने दाे साल की मासूम परी की जान ले ली। उसके पेट में मामूली दर्द था। आरोप है कि डॉक्टर ने बच्ची को हैवी डोज का इंजेक्शन लगा दिया। इससे उसकी आंतें फट गईं। इसके बाद नींद का इंजेक्शन लगा दिया, जिससे बच्ची बेहोश हो गई। 14 दिसंबर को परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी डॉक्टर आनंद कुमार अंतिल के खिलाफ केस दर्ज किया।

हरि सिंह की पोती परी के पेट में अचानक दर्द होने लगा। इस पर बहू पूनम परी को डॉक्टर आनंद के पास ले गईं। डॉक्टर ने परी को इंजेक्शन लगा घर भेज दिया। घर आने पर उसकी हालत बिगड़ गई। पूरी रात उल्टियां करती रही। सुबह परिजनों ने डॉक्टर से कहा कि कैसा इंजेक्शन लगा दिया, जिससे बच्ची की तबियत और ज्यादा खराब हो गई।

दूसरा इंजेक्शन लगाने के बाद और हालत बिगड़ी

अधिक तबीयत खराब होने पर डॉक्टर ने दूसरा इंजेक्शन लगाकर घर भेज दिया। तब बच्ची को बेहोशी छा गई। वह तड़पने लगी। तीसरी बार जब डॉक्टर से संपर्क किया तो कहा कि नींद का इंजेक्शन लगाया है, कुछ देर में सामान्य हो जाएगी। मगर बच्ची की हालत और खराब हो गई तो उसे रोहिणी के डॉ. अंबेडकर अस्पताल ले गए। वहां डॉक्टरों ने कुछ चेकअप किए। सुबह चार बजे उसे खून की उल्टियां होने लगीं तो डॉक्टरों ने उसे सफदरजंग अस्पताल रेफर कर दिया। वहां भी डॉक्टर उसे बचा नहीं पाए और सुबह दस बजे मृत घोषित कर दिया। परिजनों ने शिकायत पुलिस को दी।

डॉक्टर के पास नहीं है कोई डिग्री, पहले था कंपाउडर
सूत्रों का कहना है कि डॉक्टर आनंद कुमार अंतिल के पास डॉक्टरी से संबंधित कोई डिग्री नहीं है। वह पहले आदर्श नगर में किसी डॉक्टर के पास कंपाउडर का काम करता था। वहां से सीखते-सीखते उसने शालीमार गांव में अपनी क्लीनिक बना ली। अब यहां मरीजों का इलाज कर रहा है।

यहां कर सकते हैं शिकायत

किसी भी झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ आप दिल्ली पुलिस, दिल्ली मेडिकल काउंसिल, सीडीएमओ, चीफ डिस्ट्रिक्ट मेडिकल ऑफिसर से शिकायत कर सकते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×