--Advertisement--

सीएस के पक्ष में बयान देने के 24 दिन बाद केजरीवाल के सलाहकार ने दिया इस्तीफा

सीएम के सलाहकार सीएस मारपीट के बाद से अवकाश पर ही थे, रिटायर्ड होते ही केजरीवाल ने जैन को सलाहकार बना दिया

Danik Bhaskar | Mar 14, 2018, 04:15 AM IST
केजरीवाल के सलाहकार जैन ने पारिवारिक कारण बताकर दिया इस्तीफा। फाइल केजरीवाल के सलाहकार जैन ने पारिवारिक कारण बताकर दिया इस्तीफा। फाइल

भास्कर न्यूज|नई दिल्ली
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सलाहकार वीके जैन ने मंगलवार को इस्तीफा दे दिया। इस्तीफा देने का कारण उन्होंने निजी और परिवार की प्रतिबद्धता को बताया। दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ हुई मारपीट के दौरान जैन सीएम हाउस में ही मौजूद थे। दिल्ली पुलिस ने उनसे इस प्रकरण में पूछताछ भी की थी। तभी से वह छुट्टी पर चल रहे थे। जैन ने इस्तीफे की एक कॉपी उपराज्यपाल कार्यालय को भी भेज दी है। जैन दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड के सीईओ के पद से सेवानिवृत्त होने के बाद पिछले वर्ष सितंबर में सीएम के सलाहकार के तौर नियुक्त किया गया था।

वीके जैन के इस्तीफे देने के मामले और सीएम के हाउस में हुई घटनाक्रम के मामले में भास्कर ने जैन से सीधी बात की।

Q. आपने इस्तीफा कब दिया?
जवाब:- मंगलवार सुबह ही इस्तीफा दिया है।

Q. क्या आपका इस्तीफा मंजूर हो गया है?
जवाब:- मैंने इस्तीफा भेज दिया है, जानकारी में नहीं है, मंजूर हुआ या नहीं?

Q. इस्तीफा देने का कारण क्या है?
जवाब:- निजी कारणों के चलते इस्तीफा दिया है।

Q. जिस दिन घटना हुई उस वक्त क्या आप मौजूद थे?
जवाब:- मामला कोर्ट में चल रहा है। इस विषय पर मैं कुछ नहीं बोलूंगा।

Q. पहले आप ने मारपीट से इंकार किया, अगले दिन कोर्ट में आपका बयान क्यों बदल गया?

जवाब:- यह मामला कोर्ट में चल रहा है। इस विषय पर मैं कुछ नहीं बोलूंगा।

घटना के बाद से नहीं आ रहे जैन
- सीएस के साथ हुई मारपीट के मामले में पुलिस ने जैन से पूछताछ की थी। वहीं, कोर्ट में जैन ने 22 फरवरी को खुलासा किया था कि केजरीवाल के आवास पर विधायक प्रकाश जारवाल और अमानतुल्लाह खान ने सीएस को घेर रखा था।

- जैन ने पहले कहा था कि उन्होंने कुछ नहीं देखा है, क्योंकि उस समय वह शौचालय गए थे। घटना के बाद से जैन मुख्यमंत्री कार्यालय नहीं आ रहे थे, जबकि पिछले एक सप्ताह से वह मेडिकल लीव पर थे।

सीएम के करीबी रहे हैं जैन, 2015 में डूसिब का अधिकारी बनाया था

- मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ हुई बदसलूकी की पुष्टि करने वाले मुख्यमंत्री के सलाहकार वीके जैन दिल्ली के केजरीवाल के बेहद करीबी अधिकारी रहे हैं। यही वजह है कि दिल्ली की सत्ता में वापसी के बाद केजरीवाल सरकार ने 2002 बैच के आईएएस वीके जैन को जून 2015 में दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड (डूसिब) का मुख्य कार्यकारी अधिकारी नियुक्त किया था।
- इससे पहले वह बिना किसी विभाग में पोस्टिंग के अपनी सेवाएं दे रहे थे। इतना ही नहीं, जब वह सेवानिवृत्त हुए तो उन्हें केजरीवाल ने सलाहकार नियुक्त किया।

- इससे पूर्व जैन दिल्ली के आबकारी विभाग के साथ इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार भी रहे चुके हैं। वे दूरदर्शन में अतिरिक्त महानिदेशक (प्रशासनिक) भी रहे हैं।

सीएम के करीबी रहे हैं जैन, 2015 में डूसिब का अधिकारी बनाया था। - फाइल सीएम के करीबी रहे हैं जैन, 2015 में डूसिब का अधिकारी बनाया था। - फाइल