--Advertisement--

गुजरात चुनाव: रिजल्ट से पहले कांग्रेस-हार्दिक का आरोप- हो रहीं EVM हैक

गुजरात और हिमाचल प्रदेश असेंबली इलेक्शन के रिजल्ट सोमवार को जारी होंगे। वोटों की गिनती सुबह 8 बजे स्टार्ट हो होगी।

Danik Bhaskar | Dec 18, 2017, 02:45 AM IST
परिणाम से पहले धक-धक...  मतगणना स्थल गांधी कॉलेज के बाहर लगी बड़ी स्क्रीन पर दिल का आकार दिखा यानी दोपहर तक धक-धक रहेगी। परिणाम से पहले धक-धक... मतगणना स्थल गांधी कॉलेज के बाहर लगी बड़ी स्क्रीन पर दिल का आकार दिखा यानी दोपहर तक धक-धक रहेगी।

नई दिल्ली. गुजरात और हिमाचल प्रदेश असेंबली इलेक्शन के रिजल्ट सोमवार को जारी होंगे। वोटों की गिनती सुबह 8 बजे स्टार्ट हो होगी। संभवत: 11 बजे तक हार-जीत की तस्वीर क्लियर हो जाएगी। हालांकि, सात सर्वे एजेंसियों के एग्जिट पोल में दोनों स्टेट में बीजेपी की सरकार बनने का दावा किया गया है। हार-जीत के डिसीजन से पहले ही गुजरात में कांग्रेस और पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने ईवीएम हैकिंग के दावे शुरू कर दिए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात के रिजल्ट पर बीजेपी और कांग्रेस के साथ-साथ देशभर की निगाहें हैं। यहां मुकाबला मोदी बनाम राहुल गांधी था। बीजेपी लगातार छठी बार सरकार बनाना चाहती है, जबकि राहुल 22 साल बाद गुजरात जीतकर पार्टी प्रेसीडेंट के तौर पर पारी का आगाज चाहते हैं। गुजरात के रिजल्ट 2019 के इलेक्शन पर भी इफेक्ट डालेंगे। 2014 में डेवलपमेंट के गुजरात मॉडल पर ही मोदी प्रधानमंत्री बने थे। बीजेपी की जीत की 3 कंडिशन और उनके मायने....

92 से 115 सीट

- मोदी का जादू बेअसर माना जाएगा। अमित शाह की गुजरात बीजेपी पर पकड़ बढ़ेगी। ‘एरोगेंसी’ पर प्रहार होगा। कांग्रेस मजबूत होगी। पाटीदार, दलित आंदोलन और अधिक उग्र होंगे। शासन पर असर दिखेगा।

115-130 सीट

- मोदी मैजिक के साथ रूपाणी सरकार के कार्यों को श्रेय मिलेगा। फिर से सीएम पद संभव। कांग्रेस और कमजोर मानी जाएगी। बीजेपी का आत्मविश्वास, अहंकार बढ़ सकता है। आंदोलन बेअसर साबित होंगे।

130 से ज्यादा सीट

- यानी मोदी मैजिक चल गया। गुजरात में कांग्रेस सही मायने में मृतप्राय की हालत में आ जाएगी। मुख्यमंत्री के रूप में नया चेहरा सामने आ सकता है आंदोलन को बिल्कुल जनाधार नहीं मिला ऐसा साबित हो जाएगा।

राहुल को जारी नोटिस वापस लिया

- इलेक्शन कमीशन ने कांग्रेस प्रेसीडेंट राहुल गांधी को जारी नोटिस रविवार को वापस ले लिया। दूसरे चरण की वोटिंग से एक दिन पहले 13 दिसंबर को टीवी पर इंटरव्यू के लिए उन्हें नोटिस जारी किया था।