Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» Convergence Charges Show Deposits Paper

कन्वर्जन चार्ज जमा करने के कागज दिखाए, मिसयूज के नाम पर 16 दुकानें सील

नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (एनडीएमसी) ने खान मार्केट में मंगलवार को भी सीलिंग की कार्रवाई जारी रखी।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 10, 2018, 07:29 AM IST

  • कन्वर्जन चार्ज जमा करने के कागज दिखाए,  मिसयूज के नाम पर 16 दुकानें सील
    +1और स्लाइड देखें

    नई दिल्ली. मॉनिटरिंग कमेटी के आदेश पर नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (एनडीएमसी) ने खान मार्केट में मंगलवार को भी सीलिंग की कार्रवाई जारी रखी। सीलिंग दस्ते ने निरीक्षण के बाद 16 दुकानों के अवैध हिस्से को सील कर दिया। मॉनिटरिंग कमेटी के चेयरमैन केजे राव ने कहा कि अब अगले आदेश तक खान मार्केट में सीलिंग पर रोक रहेगी। उन्होंने कहा कि जितनी कार्रवाई की जानी थी, उतनी हो चुकी है। दूसरी जगहों पर सीलिंग की कार्रवाई बुधवार को भी जारी रहेगी। एनडीएमसी का सीलिंग दस्ता सुबह करीब 11 बजे खान मार्केट पहुंचा था।

    - सोमवार को जिन दुकानों का निरीक्षण पूरा हो गया था, उसके आगे की कार्रवाई मंगलवार को की गई। जिन दुकानों पर सीलिंग की कार्रवाई की गई है, उनमें कई जाने-माने ब्रांड भी शामिल हैं। इनमें प्रमुख रूप से राघवेंद्र राठौर, ममगोटो, सिविल हाउस, छतर हाउस, फेब इंडिया, सिविल हाउस आदि शामिल हैं। गौरतलब है कि सोमवार को मॉनिटरिंग कमेटी की नाराजगी के बाद एनडीएमसी ने देर शाम सीलिंग की कार्रवाई शुरू की थी, जिसमें तीन दुकानों के अवैध हिस्से को सील किया गया था। मालूम हो कि खान मार्केट में 156 दुकानें हैैं।


    50% तक घटी सेल
    - खानट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष संजीव मेहरा का कहना है कि मार्केट में हो रही सीलिंग का असर यहां के व्यापार पर पड़ रहा है। सीलिंग की खबर सुनकर लोग खान मार्केट का रुख नहीं कर रहे हैं। इस वजह से सेल 50 फीसदी तक घट गई है।

    मेहरचंद मार्केट में आज होगी सीलिंग
    - केजेराव ने कहा कि खान मार्केट की पहली मंजिल पर अवैध निर्माण के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश नई दिल्ली नगर पालिका परिषद को दिए गए हैं। पिछले दो दिन से खान मार्केट में सीलिंग की कार्रवाई हुई। उन्होंने कहा कि मंगलवार को मेहरचंद मार्केट में सीलिंग के निर्देश दिए गए थे। लेकिन उनकी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई थी।

    - इस कारण मंगलवार को सीलिंग नहीं की गई। बुधवार को मेहरचंद मार्केट में सीलिंग करने के निर्देश निगम को दिए गए हैं। इसके बाद 11 जनवरी तक कोई सीलिंग के निर्देश नहीं है। इसी बीच सभी एजेंसियों के साथ हमारी मीटिंग भी हो सकती है।

    - इसमें सरकारी जमीन पर अवैध कब्जे का ब्योरा मांगेंगे।
    - सीलिंग की कार्रवाई बुधवार को मेहरचंद मार्केट में करने के निर्देश मॉनिटरिंग कमेटी ने दिए हैं। पहले मॉनिटरिंग कमेटी ने मंगलवार को सीलिंग की कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। लेकिन इस मार्केट में सीलिंग की कार्रवाई बुधवार को तय की गई है।

    - मेहरचंद मार्केट के अध्यक्ष अशोक सखुजा ने बताया कि मंगलवार को मार्केट के मुद्दे को लेकर हमारी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई थी। इस वजह से मंगलवार को सीलिंग नहीं की गई। लेकिन बुधवार को हमें सीलिंग के लिए मॉनिटरिंग कमेटी की ओर से बताया गया है।

    - उन्होंने दावा करते हुए कहा कि साल 2008 में शहरी विकास मंत्रालय ने निगम को हमारी मार्केट के नक्शे का प्लान दिया था। निगम को नक्शा पास करना था लेकिन नक्शा पास नहीं किया गया। हम पिछले दस सालों से सरकार को टैक्स दे रहे हैं। मेहरचंद मार्केट दक्षिणी निगम के क्षेत्र में आती है। यहां पर 152 दुकानें हैं। यहां पर सीलिंग हुई तो 500 लोग सीधे प्रभावित होंगे। उन्होंंने कहा निगम ने मार्केट पर ध्यान नहीं दिया।


    राघवेंद्र राठौर, ममगोटो, सिविल हाउस, छतर हाउस, फेब इंडिया, सिविल हाउस जैसे जाने-माने ब्रांड स्टोर पर हुई सीलिंग
    - मॉनिटरिंग कमेटी के आदेश पर नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (एनडीएमसी) ने खान मार्केट में मंगलवार को भी सीलिंग की कार्रवाई जारी रखी। सीलिंग दस्ते ने निरीक्षण के बाद 16 दुकानों के अवैध हिस्से को सील कर दिया। मॉनिटरिंग कमेटी के चेयरमैन केजे राव ने कहा कि अब अगले आदेश तक खान मार्केट में सीलिंग पर रोक रहेगी। उन्होंने कहा कि जितनी कार्रवाई की जानी थी, उतनी हो चुकी है। दूसरी जगहों पर सीलिंग की कार्रवाई बुधवार को भी जारी रहेगी।

    - एनडीएमसी का सीलिंग दस्ता सुबह करीब 11 बजे खान मार्केट पहुंचा था। सोमवार को जिन दुकानों का निरीक्षण पूरा हो गया था, उसके आगे की कार्रवाई मंगलवार को की गई। जिन दुकानों पर सीलिंग की कार्रवाई की गई है, उनमें कई जाने-माने ब्रांड भी शामिल हैं। इनमें प्रमुख रूप से राघवेंद्र राठौर, ममगोटो, सिविल हाउस, छतर हाउस, फेब इंडिया, सिविल हाउस आदि शामिल हैं। गौरतलब है कि सोमवार को मॉनिटरिंग कमेटी की नाराजगी के बाद एनडीएमसी ने देर शाम सीलिंग की कार्रवाई शुरू की थी, जिसमें तीन दुकानों के अवैध हिस्से को सील किया गया था। मालूम हो कि खान मार्केट में 156 दुकानें हैैं।
    खान मार्केट में अधिकारियों ने सील किए शो-रूम। खान मार्केट में कार्रवाई करने आए अधिकारियों को दुकानदारों का विरोध भी झेलना पड़ा।
    50% तक घटी सेल

    - खानट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष संजीव मेहरा का कहना है कि मार्केट में हो रही सीलिंग का असर यहां के व्यापार पर पड़ रहा है। सीलिंग की खबर सुनकर लोग खान मार्केट का रुख नहीं कर रहे हैं। इस वजह से सेल 50 फीसदी तक घट गई है।

    मेहरचंद मार्केट में आज होगी सीलिंग
    - केजेराव ने कहा कि खान मार्केट की पहली मंजिल पर अवैध निर्माण के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश नई दिल्ली नगर पालिका परिषद को दिए गए हैं। पिछले दो दिन से खान मार्केट में सीलिंग की कार्रवाई हुई।

    - उन्होंने कहा कि मंगलवार को मेहरचंद मार्केट में सीलिंग के निर्देश दिए गए थे। लेकिन उनकी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई थी। इस कारण मंगलवार को सीलिंग नहीं की गई। बुधवार को मेहरचंद मार्केट में सीलिंग करने के निर्देश निगम को दिए गए हैं।

    - इसके बाद 11 जनवरी तक कोई सीलिंग के निर्देश नहीं है। इसी बीच सभी एजेंसियों के साथ हमारी मीटिंग भी हो सकती है। इसमें सरकारी जमीन पर अवैध कब्जे का ब्योरा मांगेंगे।
    - सीलिंग की कार्रवाई बुधवार को मेहरचंद मार्केट में करने के निर्देश मॉनिटरिंग कमेटी ने दिए हैं। पहले मॉनिटरिंग कमेटी ने मंगलवार को सीलिंग की कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। लेकिन इस मार्केट में सीलिंग की कार्रवाई बुधवार को तय की गई है।

    .- मेहरचंद मार्केट के अध्यक्ष अशोक सखुजा ने बताया कि मंगलवार को मार्केट के मुद्दे को लेकर हमारी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई थी। इस वजह से मंगलवार को सीलिंग नहीं की गई। लेकिन बुधवार को हमें सीलिंग के लिए मॉनिटरिंग कमेटी की ओर से बताया गया है।

    - उन्होंने दावा करते हुए कहा कि साल 2008 में शहरी विकास मंत्रालय ने निगम को हमारी मार्केट के नक्शे का प्लान दिया था। निगम को नक्शा पास करना था लेकिन नक्शा पास नहीं किया गया। हम पिछले दस सालों से सरकार को टैक्स दे रहे हैं। मेहरचंद मार्केट दक्षिणी निगम के क्षेत्र में आती है। यहां पर 152 दुकानें हैं। यहां पर सीलिंग हुई तो 500 लोग सीधे प्रभावित होंगे। उन्होंंने कहा निगम ने मार्केट पर ध्यान नहीं दिया।

  • कन्वर्जन चार्ज जमा करने के कागज दिखाए,  मिसयूज के नाम पर 16 दुकानें सील
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Delhi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Convergence Charges Show Deposits Paper
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×