--Advertisement--

मल्टीनेशनल कंपनी में काम करता था ये कपल, बाथरूम में हुई रहस्यमयी मौत

एमएनसी में काम करते थे पति-पत्नी, बाथरूम में बिना कपड़ों के मिली लाश।

Dainik Bhaskar

Mar 05, 2018, 06:20 AM IST
बेटी पिहू के साथ नीरज और रुचि। बेटी पिहू के साथ नीरज और रुचि।

गाजियाबाद. MNC में काम करने वाले नीरज और रुचि सिंघानिया की मौत के मामले में परिजन ने पुलिस को शिकायत नहीं दी है। पीएम रिपोर्ट में दोनों की मौत का कारण भी एक जैसा निकला है। पुलिस बिसरा रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

भास्कर ने पड़ताल की तो गैस गीजर से मौत होना प्रतीत हो रहा है। पुलिस के अनुसार मौत के बाद नीरज और रुचि की फेसबुक आईडी से उनके फोटो और निजी जानकारियां सोशल मीडिया पर वायरल होने लगी थीं। इस पर परिजन ने उनकी प्रोफाइल डिलीट कर दिया।

भास्कर की पड़ताल


- दोनों मौत से पहले नहा चुके थे, क्योंकि उन्होंने छत पर पूरे दिन होली खेली थी, जिससे पूरी तरह रंग-गुलाल से रंगे हुए थे। रात में परिजन दरवाजा तोड़कर जब अंदर पहुंचे तो उनके शरीर पर रंग-गुलाल नहीं था। जिला अस्पताल के जनरल फिजिशियन डाॅ. आरपी सिंह बताते हैं कि जब कोई शाम को साढ़े पांच बजे के बाद नहाएगा और उसे रंग गुलाल की वजह से काफी देर तक पानी में रहना है तो जरूर वो गर्म पानी से नहाएगा। इससे यह तय है कि गीजर जरूर चलाया गया होगा।
- दोनों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट नहीं है, इसलिए बिसरा प्रिजर्व करा दिया गया है लेकिन रिपोर्ट में दोनों की मौत का कारण एक जैसा- फेफड़े और मस्तिष्क में कंजेशन बताया गया है। किसी तरह के चोट या जहर का प्रभाव शरीर में नहीं मिला है।
- इंदिरापुरम इंस्पेक्टर सचिन मलिक ने बताया कि परिजन ने अभी तक कोई शिकायत नहीं दर्ज कराई है। इसलिए आधिकारिक रूप में जांच नहीं कर रहे हैं, मौत का कारण जानने को कई एक्सपर्ट से बात की है। सभी ऐसी स्थितियों में मौत का कारण गैस गीजर बता रहे हैं।

इस तरह से गैस गीजर बन जाता है जानलेवा


- एलपीजी में ब्यूटेन और प्रोपेन गैस होती है, जो जलने के बाद कार्बन डाईऑक्साइड
- पैदा करती है, छोटी जगह गैस गीजर चलता है तो वहां पर कार्बन डाईऑक्साइड
- की मात्रा बढ़ने लगती है और ऑक्सीजन की कमी होने लगती है। ऑक्सीजन की
- कमी होने से बेहोशी छा जाती हैं, अंग प्रभावित होने लगते हैं जिससे मौत हो सकती है।

जानलेवा हो सकती है गैस

- यशोदा अस्पताल के न्यूरोलॉजिस्ट डाॅ. राकेश कुमार ने बताया कि एलपीजी गीजर से पैदा होने वाली आग के कारण ऑक्सीजन की खपत में कमी आ जाती है।
- साथ ही कार्बन मोनोआक्साइड भी बनती है। मस्तिष्क में ऑक्सीजन की कमी जानलेवा हो सकती है।

सतर्क रहें, गीजर ले सकता है जान
- जनवरी में पूर्वी दिल्ली के गणेश नगर में बाथरूम में नहाते समय गैस गीजर से युवती की दम घुटने से मौत हुई थी।
- ग्रेटर नोएडा के चेतन सैनी व पत्नी किरण की मौत गीजर से दम घुटने से हुई थी।
- गाजियाबाद में दिसंबर में युवक की गैस गीजर से दम घुटने से मौत हुई थी।

इस घर में रहते थे दोनों। इस घर में रहते थे दोनों।
X
बेटी पिहू के साथ नीरज और रुचि।बेटी पिहू के साथ नीरज और रुचि।
इस घर में रहते थे दोनों।इस घर में रहते थे दोनों।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..