दिल्ली न्यूज़

--Advertisement--

दिल्ली को मिलेगी 25% सस्ती बिजली, विंड एनर्जी से होगा फायदा

दिल्ली को अब विंड एनर्जी से रोशन किया जाएगा।

Danik Bhaskar

Dec 04, 2017, 07:11 AM IST

नई दिल्ली। दिल्ली को अब विंड एनर्जी से रोशन किया जाएगा। यह बिजली परंपरागत साधनों के मुकाबले 25 % तक सस्ती होगी। समुद्र किनारे हवा से पैदा होने वाली 150 मेगावाट बिजली दिल्ली में सप्लाई की जाएगी। बीएसईएस राजधानी 100 मेगावाट और बीएसईएस यमुना 50 मेगावाट बिजली खरीदने जा रही हैं।

बीएसईएस राजधानी 100 मेगावाट बिजली खरीदेगा

- विंड एनर्जी प्रोजेक्ट गुजरात या तमिलनाडु या अन्य समुद्री इलाकों में लगाए जाएंगे। विंड एनर्जी से पैदा बिजली की दरों में गिरावट अाई है। इससे बिजली कंपनी ने रुचि दिखाई है। इससे पहले भी कंपनी ने मई में पावर ट्रेडिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड से 100 मेगावाट बिजली खरीदने के लिए समझौता किया था।

- कंपनी को 3.46 रुपए प्रति यूनिट की दर से 25 साल तक विंड एनर्जी प्रोजेक्ट से पैदा बिजली मिलेगी। यह बिजली दिल्लीवालों को 18 नवंबर 2018 से मिलनी शुरू होगी। कंपनी ने आरपीओ (रिन्युएबल पावर ऑब्लिगेशन) के लक्ष्य को पूरा करने के लिए विंड एनर्जी से पैदा बिजली खरीदने की तैयारी की है।


पहले भी सस्ती हुई थी बिजली
विंडएनर्जी एक्सपर्ट ओपी तनेजा कहते हैं कि इससे पहले भी विंड एनर्जी का रेट 3.46 रुपए प्रति यूनिट से घटकर 2.64 रुपए प्रति यूनिट हो गया था। फिर भी बिजली कंपनियों ने बिजली खरीद में रुचि नहीं ली।

पॉल्यूशन फ्री है विंड एनर्जी
कोयला आधारित बिजली संयंत्रों के विपरीत विंड एनर्जी प्लांट पॉल्यूशन फ्री होती है। गुजरात, तमिलनाडु, राजस्थान, एमपी, आंध्रप्रदेश के समुद्री इलाकों में विंड एनर्जी का उत्पादन होता है। ट्रांसमिशन लाइन के जरिए ये बिजली दिल्ली लाई जाएगी। एनर्जी लॉ एक्सपर्ट राजसिंह निरंजन कहते हैं कि विंड एनर्जी ग्रीन एनर्जी के अंदर आती है।

Click to listen..